Wednesday, September 22, 2021

 

 

 

क्या 1978 में DU के पास कंप्यूटर थे : आप नेता आशुतोष

- Advertisement -
- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्री के विवाद को आम आदमी पार्टी पीछे छोड़ना नहीं चाहती हैं. पार्टी ने एक बार फिर मोदी की डिग्री के बारे में एक नया सवाल उठाया हैं. लेकिन अब की बार ये सवाल बीजेपी के लिए न होकर दिल्ली यूनिवर्सिटी के लिए हैं. जहाँ से पीएम मोदी ने बीए पास किया था.

आप नेता आशुतोष ने पीएम मोदी के बीए के मार्कशीट और डिग्री में अंतर का उल्लेख करते हुए कहा कि, ‘भारतीय जनता पार्टी ने जो मार्कशीट जारी किए हैं, उसमें नाम और परीक्षार्थी के अंक छपे हुए हैं, जबकि वर्ष 1978 में जो अन्य छात्र उतीर्ण हुए उनके नाम और अंक हाथ से लिखे हुए हैं।’

उन्होंने आगे कहा कि ने कहा, ‘इसी तरह मोदी की डिग्री में विश्वविद्यालय का लोगो आधुनिक फॉन्ट में छपा है, जबकि असली डिग्री का फॉन्ट साधारण है। यह दर्शाता है कि डिग्री फर्जी है।’ आप ने डिग्री के असली होने और इसका सत्यापन कर लिए जाने के विश्वविद्यालय के दावे का भी विरोध किया।

आशुतोष ने सामाजिक कार्यकर्ता अनिल गलगली द्वारा ‘सूचना के अधिकार’ के तहत दिल्ली विश्वविद्यालय से मिले जवाब का हवाला देते हुए कहा, ‘मंगलवार को विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ने दावा किया कि उन लोगों ने दस्तावेजों को सत्यापित किया है और मोदी की डिग्री असली है। जबकि गलगली ने वर्ष 2015 में सूचना के अधिकार(आरटीआई) के जरिए वर्ष 1978 में स्नातक बने सभी की एक सूची मांगी थी, तो दिल्ली विश्वविद्यालय ने जवाब में कहा था कि वह तीन-चार दशक पुराने रिकॉर्ड नहीं रखता।’

आशुतोष ने कहा, ‘विश्वविद्यालय ने या तो आरटीआई के जवाब में झूठ बोला या मंगलवार को झूठ बोला। क्योंकि जब कोई रिकॉर्ड ही नहीं है तो किस तरह से उसका सत्यापन किया गया?’ उन्होंने विश्वविद्यालय से केंद्रीय सूचना आयोग के आदेश का पालन करने के लिए कहा, जिसने मोदी की डिग्री को सार्वजनिक करने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles