छेड़खानी को लेकर सुरक्षा की मांग करने वाली बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की छात्राओं के आंदोलन को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने ‘नक्सल आंदोलन’ की तरह बताया है.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में स्वामी ने कहा, ‘मैं इस मामले में वीसी का समर्थन करता हूं क्योंकि यह एक नक्सल आंदोलन की तरह लग रहा है, जिसका मतलब है कि वे वीसी के ऑफिस में घुसना चाहते थे और वहां वह हिंसा करते.’

उन्होंने कहा कि वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का समर्थन करते हैं और उन्होंने इस मुद्दे पर विस्तृत रिपोर्ट मांगकर अच्छा किया. स्वामी ने आगे कहा, ‘यह अवास्तविक लग रहा है, क्योंकि वे कह रही हैं कि छेड़छाड़ हुई, लेकिन हमें उनकी पहचान पता ही नहीं और ये दूसरे स्टूडेंट्स को कैसे पता चला और क्या लड़की ने तुरंत इसकी रिपोर्ट दी या नहीं?’

ध्यान रहे बीएचयू के एक प्रथम वर्षीय छात्रा ने आरोप लगाया कि गुरुवार को बीएचयू कैंपस परिसर के बाहर तीन बाइक सवार पुरुषों ने उसके साथ छेड़छाड़ की थी. इस मामले में पीड़िता ने विश्वविद्यालय प्रशासन से शिकायत की, लेकिन प्रशासन कार्रवाई के बजाय पीड़िता को ही अपमानित किया.

प्रशासन के इस रवैये के चलते नाराज छात्राओं  ने शुक्रवार को परिसर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और मुख्य द्वार के माध्यम से परिसर में प्रवेश अवरुद्ध किया था. कुलपति से मिलने जा रही छात्राओं पर पुलिसकर्मियों द्वारा लाठीचार्ज के बाद ये आंदोलन हिंसक हो गया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?