दिल्ली के मुख्य सचिव पर हुए कथित हमले को ‘साजिश’ करार देते हुए आम आदमी पार्टी (आप) ने बुधवार को कहा कि उसके दो विधायकों प्रकाश जरवाल और अमानतुल्ला खान को बिना किसी पूछताछ के गिरफ्तार किया गया क्योंकि वे दलित और मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय से हैं.

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा, “हमारे पास वह वीडियो फुटेज है जिसमें दिल्ली सचिवालय में कल (मंगलवार) हमारे मंत्री और उनके निजी सचिव पर एक भीड़ ने हमला किया जिन्हें भाजपा के द्वारा भड़काया गया था. लेकिन, इस पर कुछ नहीं किया गया.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, “मुख्य सचिव के शब्दों को पूर्ण सत्य मान लिया गया. शीर्ष नौकरशाह झूठे आरोप लगा रहे हैं.” संजय सिंह ने आरोप लगाया कि दिल्ली सचिवालय के बाहर मंगलवार को भड़काने वाला भाषण दिया गया जिससे वहां हंगामा हुआ और मंत्री इमरान हुसैन और उनके निजी सचिव हिमांशु सिंह की पिटाई की गई।

आप नेता ने कहा कि भाजपा के शासन में कई राज्यों में दलित और मुस्लिम सांप्रदायिक हिसा का शिकार बने हैं. उन्होंने कहा, “मुख्य सचिव ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने आप के विधायकों ने उन्हें पीटा. अगर उनके साथ सच में मारपीट की गई थी तो उन्हें तत्काल पुलिस को सूचित करना चाहिए था.”

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्य सचिव ने ऐसा क्यों नहीं किया? अगली सुबह उन्होंने हमारे विधायकों के खिलाफ आरोप लगाना शुरू कर दिया.

Loading...