Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

चंद्रशेखर ‘रावण’ ने मायावती के खियाफ खोला मोर्चा – न तो दलितों की शुभचिंतक और न ही दलितों की रक्षा करती हैं

- Advertisement -
- Advertisement -

देश में चल रहे लोकसभा चुनाव के बीच भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती पर निशाना साधते हुए रविवार को कहा कि मायावती दलितों की शुभचिंतक नहीं है और न ही वह दलितों के हितों की रक्षा करती हैं।

बता दें कि चंद्रशेखर ने हाल ही में ऐलान किया था कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ उत्तरप्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। हाल ही में बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर पर दलित वोट बांटकर भाजपा को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया था।

उन्होंने ट्वीट किया था, ‘दलितों का वोट बांटकर भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए ही भाजपा भीम आर्मी के चंद्रशेखर को वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़वा रही है। यह संगठन भाजपा ने ही षड्यंत्र के तहत बनवाया है और इसकी आड़ में भी अपनी दलित-विरोधी मानसिकता वाली घिनौनी राजनीति कर रही है।’

उन्होंने आगे लिखा था, ‘भाजपा ने गुप्तचरी करने के लिए पहले चंद्रशेखर को बीएसपी में भेजने का प्रयास किया, लेकिन उनका यह षड्यंत्र विफल रहा। अहंकारी, निरंकुश व घोर जातिवादी व सांप्रदायिक भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए आपका एक-एक वोट बहुत कीमती है। इसे किसी भी हाल में बर्बाद नहीं होने देने की अपील की।’

देश के संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ.भीमराव आम्बेडकर  की 128वीं जयंती के अवसर पर उनकी जन्मस्थली महू में उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने आये चंद्रशेखर ने संवाददाताओं को बताया, ‘बाबा साहेब ने कुछ बड़े-बड़े सपने देखे थे, जो अब तक पूरे नहीं हुए हैं। इसलिए मैं यहां पर आया हूं और मैं उनके इन सपनों को पूरा करूंगा।’

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘मायावती की पार्टी दलितों के हितों की रक्षा नहीं करती है। असलियत में समूचे देश में दलितों की शुभचिंतक मेरी पार्टी (भीम आर्मी bhim army) है, न कि बसपा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles