सपा नेता आजम खान पर मुकदमों की सेंचुरी ब्ननाने को आतुर रामपुर जिला प्रशासन ने अब उनकी दिवंगत मां के खिलाफ भी एफआईआर कर दी है। उन पर जमीन के मामले में धोखाधड़ी का मुकदमा किया गया है।

नायब तहसीलदार की ओर से दर्ज कराए गए इस मामले में आजम खान के बड़े बेटे अदीब आजम समेत 37 लोगों को नामजद किया गया है। इसमे आजम खान की मां आमिर जहां बेगम का भी नाम है। आजम की मां का 6 साल पहले ही निधन हो चुका है।

आरोप है कि उन्होंने 11 साल पहले जेल के फांसी घर की जमीन खरीदी थी। ये जमीन 2007 में आजम की मां को वाहिद मियां नाम के शख्स ने बेची थी। हालांकि सरकार को 1949 के दस्तावेज से ऐसी जानकारी मिली है कि आजम खान की मां ने अंग्रेजों के जमाने में जेल में फांसी देने के लिए तय जमीन पर घर बना लिया।

लेकिन जहां ये कब्जा बताया गया है, वहां अब मियां खां नाम का मोहल्ला बसा हुआ है। जिसमें बरसों से हजारों लोग रह रहे हैं। ऐसे में अब अब पुलिस ने उनकी दिवंगत मां के खिलाफ भी एफआईआर कर दी है।

दूसरी और ऐसे में सपा का एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने सीएम योगी से कहा कि विधायक, मंत्री व राज्यसभा सदस्य रह चुके और अब सांसद आजम खां क्या बकरी व भैंस चुराएंगे, जो उनके खिलाफ इन धाराओं में भी मुकदमे दर्ज किए गए हैं।

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि मोहम्मद आजम खां ने मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय की स्थापना कर शिक्षा क्षेत्रों में एक बड़ा काम किया है। उन्होंने बच्चों के लिए पब्लिक स्कूल खोला है। इसमें यतीम और गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए तमाम सुविधाएं दी जाती हैं। जिला प्रशासन ने इनके ध्वस्तीकरण की इकतरफा कार्रवाई की।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन