Monday, May 17, 2021

अज़ान के बाद बीजेपी मंत्री का बुर्के पर विवादित बयान, यूपी में चुनावों की तैयारियां हुई शुरू?

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य राज्य मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ला ने मुस्लिम महिलओं के पहनावे पर आपत्तिजनक टिपण्णी की है। इससे पहले वह मस्‍ज‍िदों में लाउडस्‍पीकर के ख‍िलाफ भी उलूल-जुलूल टिपण्णी कर चुके है।

बलिया सदर से विधायक आनंद स्वरूप ने सरकार से मांग की है कि मुस्लिम महिलाओं को बुर्के से आजादी मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा था कि यह अमानवीय है, कई मुस्लिम देशों ने बुर्के पर प्रतिबंध लगाया है। मंत्री ने कहा कि रूढ़िवाद व परंपरा के नाम पर महिलाओं पर कुछ भी नहीं थोपा जाना चाहिए। समाज के प्रबुद्ध लोगों व धर्म गुरुओं को 21 वीं सदी के साथ समाज को आगे बढ़ने का अवसर देना चाहिए।

साथ ही उन्होंने विवाद बढ़ने पर सफाई देते हुए कहा कि वह सुधार की बात कर रहे हैं। मंत्री ने कहा कि किसी भी धर्म की महिला को यह स्वतंत्रता होनी चाहिए कि वह क्या पहने वो क्या न पहने।

त्री के इस बयान पर सपा नेता सुमैया राना ने कहा कि बीजेपी वाली दोमुहा सांप हैं। उन्हें जींस से भी आपत्ति होती है और बुर्के से भी। उन्होंने कहा कि बुर्का बैन की ही बात क्यों हो रही है। बैन घूंघट पर भी लगाया जाए। सुमैया ने कहा कि उनका मानना है कि बुर्का उन लोगों का सुरक्षा कवच है।

इससे पहले पहले उन्होंने मस्‍ज‍िदों में लाउडस्‍पीकर के ख‍िलाफ डीएम को खत ल‍िख कर उसे नियंत्रित करने की बात कही थी। मंत्री ने कहा कि आम लोग डायल 112 पर कॉल कर मस्जिद में लगाए गए ध्वनि विस्तारक यंत्र के कारण हो रही दिक्कत की सूचना दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने जिलाधिकारी को जो पत्र लिखा है, उस पर कार्रवाई होगी। मंत्री शुक्ला ने कहा कि अगर उनके पत्र पर कार्रवाई नहीं होती है तो वह आगे कदम उठाएंगे।

उन्होंने ये भी कहा था कि मौलाना अबुल कलाम आजाद के दिल में भारत और भारतीयता के लिए कोई जगह नहीं थी। शुक्ला ने कहा था कि दुर्भाग्य से मुझे कहने में कोई संकोच नहीं है कि देश के पहले शिक्षा मंत्री अबुल कलाम आजाद के दिल में भारत और भारतीयता के प्रति कोई स्थान नहीं था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles