Sunday, January 23, 2022

बुरहान की मौजूदगी का पता होता तो उसे एक मौका और देते: महबूबा मुफ़्ती

- Advertisement -

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के एनकाउंटर को लेकर गुरुवार को कहा कि सुरक्षा बलों को मालूम नहीं था कि आठ जुलाई को जहां मुठभेड़ हुई, वहां हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर बुरहान वानी भी मौजूद था। उन्हें सिर्फ इतना पता था कि घर के भीतर तीन आतंकवादी मौजूद हैं।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने उन्हें बताया था कि दक्षिणी कश्मीर के काकरनाग इलाके में एक घर में ‘तीन आतंकवादी छिपे हुए हैं’ लेकिन ‘उन्हें नहीं पता था कि आतंकवादी कौन हैं’। मेरा मानना है कि अगर उन्हें पता होता कि बुरहान वहां है तो हमारी तैयारी बेहतर होती और शायद दूसरे विकल्प या उसके सरेंडर की संभावना को तलाशा जाता.

मुख्यमंत्री ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमें किसी मुठभेड़ के बारे में भला कैसे पता हो सकता है? मैं भला क्या कह सकती हूं? मुझे विश्वास है कि यदि उन्हें पता होता कि बुरहान वहां है तो उसे एक मौका जरूर दिया गया होता, क्योंकि कश्मीर में परिस्थितियां तेजी से बदल रही थीं।

मौजूदा स्थिति की अफजल गुरु की फांसी के बाद कश्मीर में पैदा हुई स्थिति से तुलना किए जाने पर महबूबा ने कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को पता था कि अफजल को फांसी दी जा रही है। उमर ने हालात से निपटने के लिए व्यापक तैयारी की थी।

हमें तो कुछ भी मालूम नहीं था, अचानक ही पता चला कि बुरहान मारे गए आतंकियों में है। हमने हालात पर काबू पाने के लिए कुछ जगहों पर कर्फ्यू भी लगाया, ताकि हमारे नौजवान बच्चे सड़कों पर न आएं। लेकिन कई अन्य इलाकों में लोग सड़कों पर आ गए और सुरक्षाबलों और पुलिस थानों पर हमले शुरू हो गए।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles