लोकसभा में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के नेता कुंवर दानिश अली ने कहा है कि उनकी पार्टी संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक का पुरजोर विरोध करेगी।

उन्होने कहा कि प्रस्तावित नागरिकता संशोधन विधेयक न सिर्फ संविधान के मूलभूत सिद्धांतों के खिलाफ है, बल्कि संविधान की प्रस्तावना में निहित समानता की परिकल्पना पर भी हमला है।

बसपा नेता ने कहा कि बसपा का मानना है कि यह विधेयक आम आदमी से जुड़े बुनियादी मुद्दों से ध्यान हटाने के मकसद से देश के लोगों को बांटने के लिये लाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बसपा सत्तारूढ़ भाजपा की इस चालबाजी का जोरदार विरोध करेगी।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक में नागरिकता संशोधन बिल को मंजूरी दे दी गई है। इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के गैर मुस्लिमों (हिंदुओं, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई) को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है।

अब इस बिल को अगले हफ्ते संसद में पेश किया जा सकता है। मोदी सरकार ने पिछले कार्यकाल के दौरान इसी साल जनवरी में बिल लोकसभा में पास करा लिया था, लेकिन विपक्षी दलों के विरोध के कारण राज्यसभा में अटक गया था। विपक्ष ने इस विधेयक की आलोचना करते हुए इसे धार्मिक आधार पर भेदभावपूर्ण बताया। उनकी मांग है कि श्रीलंका और नेपाल के मुस्लिमों को भी इसमें शामिल किया जाए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन