mayawati-759

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को ऐलान किया है कि उनकी पार्टी का उत्तर प्रदेश सहित उत्तराखंड और पंजाब में भी किसी भी पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा. उन्होंने कहा कि बसपा मूवमेंट के हित को देखते हुए किसी के साथ किसी भी प्रकार का कोई गठबंधन या समझौता नहीं किया जाएगा.

मायावती ने कहा, ‘बहुजन समाज पार्टी उत्तर प्रदेश के साथ साथ उत्तराखंड और पंजाब इन तीनों राज्यों में विधानसभा का चुनाव अकेले पूरी तैयारी के साथ अपने बलबूते पर लड़ेगी तथा बसपा मूवमेंट के हित के मद्देनजर किसी के साथ किसी तरह का गठबंधन या समझौता नहीं करेगी.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी के साथ उन्होंने चुनाव आयोग से अपील की हैं कि निष्पक्ष चुनाव के लिये केन्द्र सरकार को एक फरवरी को आमबजट पेश न करने दिया जाए. उन्होंने कहा, ‘निष्पक्ष चुनाव के लिए केन्द्र सरकार को निर्देशित किया जाए कि वह एक फरवरी को आम बजट पेश ना करे और उसके स्थान पर 2012 की तरह सभी पांच राज्यों में अंतिम मतदान की तारीख यानी आठ मार्च के बाद किसी भी तारीख को पेश करे.

बसपा प्रमुख ने आगे कहा कि ‘चुनाव के दौरान आम बजट पेश कर मतदाताओं को प्रभावित किया जा सकता है. इससे निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकेंगे. इसके अलावा उन्होंने चुनाव आयोग के सात चरणों में चुनाव कराने के फैसला का स्वागत किया हैं.

Loading...