Friday, September 17, 2021

 

 

 

अंग्रेजों का बनाया हुआ हैं शरियत एक्ट, तीन तलाक का कुरआन में भी कहीं जिक्र नहीं: भाजपा

- Advertisement -
- Advertisement -

prem

गोरखपुर: तीन तलाक को लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ल ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा मुस्लिम महिलाओं को इन्साफ दिलाना चाहती है. तीन तलाक का पवित्र कुरआन में भी कहीं जिक्र नहीं है. इसलिए महिलाओं को लैंगिक न्याय सुनिश्चित करने के लिए उनको ट्रिपल तलाक जैसे अन्यायकारी मामले से मुक्ति मिलनी चाहिए.

उन्होंने तीन तलाक को एक बुराई बताते हुए कहा कि  यह एक कौम की महिलाओं को इंसाफ देने का प्रयास है. उन्‍होंने आगे कहा, कांग्रेस और जनता दल के सांसद और बड़े स्‍कॉलर रहे रफीक जकारिया ने खुद कहा है कि‍ ट्रिपल तलाक और शरियत मुल्ला और मैकाले की दुष्ट वृत्ति के कारण हुआ.

उन्होंने तीन तलाक महिला उत्पीड़न की श्रेणी में रखते हुए कहा, तीन तलाक गैर इस्लामिक है और इसका शरियत में कहीं भी जिक्र नहीं है बल्कि यह मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार है.

शुक्ल ने आगे कहा कि‍ शरियत एक्ट पैगम्बर मोहम्मद साहब के जमाने का नहीं है. इस एक्ट को अंग्रेजों ने 1937 में बनाया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles