SP lowered underdog candidate in the heartland Owaisi,

owai

आल इंडिया मजिलस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी सोमवार को उत्तरप्रदेश के शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के गनेशपुर में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे.

इस दौरान उन्होंने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार का नोटबंदी का फैसला निहायत ही गलत है. सरकार ब्लैक मनी नहीं, गरीबों का खात्मा कर रही है. उन्होंने दावा किया कि नोटबंदी से सबसे ज्यादा परेशानी मुस्लिमों और दलितों को है. इस तबके की आधी आबादी के पास बैंक खाता नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी के जरिये आतंकवाद रोकने व कालाधन पर रोक लगाने की बात बकवास है. इससे सिर्फ और सिर्फ गरीब प्रभावित हो रहा है. अब तक 120 लोगों की जान जा चुकी है। लाखों लोगों की नौकरी चली गई है. नौकरी जाने से लोग अपने गांवों को वापस हो रहे हैं. किसान अपनी उपज को आधे दामों पर बेच रहा है.

ओवैसी ने मुसलमानों की एकजुटता का आह्वान करते हुए कहा कि बुआ-बबुआ की सियासत से ऊपर उठें. सपा-बसपा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. सपा में फेमिली ड्रामा चल रहा है. उन्होंने कहा, चुनाव से पहले सपा ने मुसलमानों को 18 फीसदी आरक्षण का वादा किया था, लेकिन अब उन्हें वह वादा नहीं. यूपी में 70 मुस्लिम विधायक बेकार हैं। उनके मुंह पर सपा, बसपा और कांग्रेस का ताला पड़ा है. यह लोग कभी भी मुसलमानों का हित नहीं होने देंगे.

Loading...