Saturday, November 27, 2021

भाजपा मुस्लिमों से छीनना चाहती थी तलाक का अधिकार, लेकिन नहीं मिली सफलता: ओवैसी

- Advertisement -

देश की सर्व्वोच अदालत ने एक साथ तीन तलाक देने को असंवेधानिक करार देते हुए रोक लगा दी है. यानि एक साथ दिया तीन तलाक अब अमान्य होगा. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक की प्रथा को जारी रखा है.

ऐसे में आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी मुसलमानों से तीन तलाक का अधिकार छिनना चाहती थी. लेकिन उसे कामयाबी नहीं मिल पाई. ओवैसी ने सवाल उठाया कि अगर कल को कोई मुस्लिम महिला कहेगी कि यह मेरी शरीयत का हिस्सा है और मैं अपनी शादी को इस तीन तलाक से खत्म करना चाहती हूं तब आप क्या करेंगे ?

उन्होंने मुस्लिम महिलाओं के याचिका दायर करने के मामले में कहा कि हमारे पास सर्वे डेटा है जिसके हिसाब से तलाक मामले मुसलमानों में एक प्रतिशत से भी कम है,  उन्होंने तीन तलाक को एक बुराई बताते हुए कहा कि इसके लिए पर्सनल लॉ बोर्ड ने पहल की है.

लॉ बोर्ड के जिम्मेदार लोग लोगों के बीच जाकर बता रहे हैं की अगर आपको तलाक देना है तो ऐसे मत दीजिए ये गुनाह है. ओवैसी ने कहा कि भाजपा जितनी मुस्लिम महिलाओं के हित की बात करती है उसमें कोई सच्चाई नहीं है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी सिर्फ दिखावा करती है, उन्होंने कहा कि गौरक्षकों ने कई मुस्लिमों को मारा जिस कारण उनकी बीबियां बेवा हो गईं और कई मांओं की गोद उजड़ गई लेकिन सरकार ने कुछ नहीं बोला. उन्होंने कहा कि अगर कानून बनाना है तो विधावों के लिए कानून बनाइये.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles