Thursday, January 20, 2022

पश्चिम बंगाल में NRC से बीजेपी का U-टर्न, दिलीप घोष ने दिया ऐसा ही बयान

- Advertisement -

कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में ज़ोर-शोर के साथ राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लागू करने का ऐलान करने वाली भारतीय जनता पार्टी (BJP) अब इस मुद्दे पर पीछे हटती नजर आ ही है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने बुधवार को कहा कि एनआरसी भविष्य की बात है। उन्होंने इस बात की ओर इशारा भी किया कि पार्टी, बंगाल में एनआरसी लागू नहीं करेगी।

अंग्रेजी अखबार द हिन्दू के अनुसार घोष ने एनआरसी लागू होने से जुड़े सवाल पर कहा कि यह कब होगा और क्या होगा, यह भविष्य की गोद में है। रिपोर्ट के अनुसार, दिलीप घोष ने जलपाईगुड़ी में पत्रकारों से कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट के आदेश के कारण असम में NRC लागू किया गया था। राजीव गांधी ने कहा कि वे एनआरसी करेंगे। भाजपा ने समझौता नहीं किया और यह अदालत गई। अदालत के आदेश के आधार पर इसे असम में लागू किया गया।’

साथ ही उन्होंने कहा कि अगर देशव्यापी एनआरसी की जरूरत होगी, तो केंद्र सरकार इस बारे में सोचेगी। इससे पहले घोष ने हमेशा बंगाल में एनआरसी की वकालत की थी। पिछले नवंबर में तीन विधानसभा उपचुनावों में हार के बाद भी उन्होंने कहा कि हार के लिए एनआरसी को जिम्मेदार ठहराना ‘जल्दीबाजी’ होगी।

राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के समय को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, ‘इसे सीएए या एनआरसी से जोड़ना गलत है। हमने 2019 में ही एनपीआर के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया था। ऐसे में ये कहना हम इसे इस समय क्यों लाए, बिल्कुल गलत है।’

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles