ऑल इंडिया मजलिसे एत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख और हेदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भारतीय जनता पार्टी पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी समान नागरिक संहिता के नाम पर भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ बनाने की कोशिश में हैं.

उन्होंने आगे कहा कि भाजपा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एजेंडा को लागू करने की कोशिश कर ही है, क्योंकि वह चुनावों के दौरान किए गए वादों को पूरा करने में असफल रही है. ओवैसी ने कहा कि 1.5 नौकरियां देने, गैस और केरोसिन के दाम को विनियमित करने और अर्थव्यवस्था में जान फूंकने में नाकाम रहने के बाद अब भाजपा आरएसएस के मुख्य एजेंडा ‘हिंदू राष्ट्र’ को लागू करने में जुट गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने केंद्र सरकार से पूछा कि क्या सरकार धारा 371 को हटा सकती है जो मिजोरम और नागालैंड को सांस्कृतिक सुरक्षा व अधिकार देती है. उन्होने पूछा, हिंदू संयुक्त परिवार को कर छूट मिलती है. क्या आप उसे हटाने वाले हैं ?

उन्होंने हैदराबाद में एनआईए द्वारा गिरफ्तार युवकों को क़ानूनी सहायता देने के बारे में कहा कि एनआईए ने उन युवाओं पर कुछ आरोप लगाए हैं, लेकिन उनके परिवारजनों ने मुझे बताया है कि वे निर्दोष हैं. उन्होने कहा, ‘अदालत इस बात का फैसला करेगी कि वे दोषी हैं या निर्दोष हैं और हर किसी को अदालत का फैसला स्वीकार करना होगा.

ओवैसी ने आईएस की निंदा करते हुए कहा कि आईएस एक आतंकवादी संगठन है और इस पर कोई दो राय नहीं हो सकती. सभी इस्लामिक विद्वानों ने उसकी आलोचना की है.

Loading...