मुंबई के निकट नालासोपारा से भारी मात्रा में विस्फोटक और अवैध हथियारों की बरामदगी के साथ गिरफ्तार हुए हिंदूवादी आतंकियों के सबंध में शिवसेना ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी से हिन्दू आतंकवाद पर अपना रुख साफ करने को कहा है।

शिवसेना ने कहा कि जिस वक्त बीजेपी विपक्ष में थी उसने ‘हिन्दू आतंकवाद’ का कड़ा विरोध किया था। लेकिन, हैरानी की बात ये है कि सरकार में आते ही वह लोगों को ‘हिन्दू आतंकवाद’ के तौर पर ब्रांडिंग कर रही है और उन्हें खत्म करने की दिशा में काम कर रही है।

शिवसेना ने अपने संपादकीय ‘सामना’ में कहा- कांग्रेस ने ‘हिन्दू आतंकवाद’ शब्द दिया था और उस वक्त बीजेपी ने इस शब्द पर संसद से सड़क तक बवाल किया था। अब बीजेपी की महाराष्ट्र और केन्द्र दोनों जगहों पर सरकार है और अभी भी ‘हिन्दू आतंकवाद’ बोला जा रहा है। सरकार को इस दिशा में अपना रुख साफ करना चाहिए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

sana

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस पर सवाल उठाते हुए शिवसेना ने कहा कि “सरकार ने यह फैसला किया है कि सभी हिन्दू आतंकवादी हैं और उन्हें खत्म कर देना चाहिए… हिन्दुओं को हिन्दुस्तान में और सबसे महत्वपूर्ण ये है कि मोदी-फड़णवीस के शासन में, आतंकवाद का तमगा दिया जा रहा है… यह हैरान करने वाला है।”

बता दें कि सनातन संस्था से जुड़े आतंकियों के निशाने पर मुंबई, पुणे, नालासोपारा, सातारा और सोलापुर थे। एटीएस का कहना है कि इन लोगों का मकसद पिछले साल पुणे में संपन्‍न सनबर्न फेस्‍ट‍िवल में बम प्‍लांट कर धमाका करना था।

Loading...