Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

ओवैसी पर भड़कीं ममता – बीजेपी वोटों को बांटने के लिए हैदराबाद की पार्टी लाई

- Advertisement -
- Advertisement -

बिहार विधानसभा चुनावों में जीत से उत्साहित एआईएमआईएम पश्चिम बंगाल का विधान सभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। इसी बीच अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीधे तौर पर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर बीजेपी के साथ सांठगांठ का आरोप लगाया। उन्होने कहा कि वह बीजेपी से पैसे लेकर अल्पसंख्यक वोटों को बंटवाने का काम करते है।

ममता ने जलपाईगुड़ी में एक रैली में नाम लिए बगैर कहा, ”अल्पसंख्यक वोटों को विभाजित करने के लिए उन्होंने (बीजेपी) हैदराबाद से एक पार्टी को लाया है, बीजेपी उन्हें पैसे देती है और वे वोटों को विभाजित करते हैं। बिहार चुनाव ने इसे साबित कर दिया है।”

इसके अलावा, ममता बनर्जी ने बीजेपी को सबसे बड़ा चोर बताया। उन्होंने कहा, ”बीजेपी से बड़ा कोई चोर नहीं है। वे चंबल के डकैत हैं। उन्होंने 2014, 2016 और 2019 के चुनावों में कहा कि सात चाय बागान दोबारा खोले जाएंगे और केंद्र सरकार उनका अधिग्रहण करेगी। वे अब नौकरी के वादे कर रहे हैं। वे ठग रहे हैं।”

उल्लेखनीय है कि ओवैसी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से हाथ मिलाने का प्रस्ताव दिया है। ओवैसी ने ममता के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन की पेशकश करते हुए कहा कि उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हराने में तृणमूल कांग्रेस की मदद करेगी।

पश्चिम बंगाल के चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं की बहुत ही अहम रोल है। करीब 30 फीसदी आबादी के साथ वह 294 सीटों वाली विधानसभा में 100 से लेकर 110 सीटों पर हार और जीत तय कर सकते हैं। बीजेपी को छोड़कर टीएमसी, कांग्रेस और सीपीएम सब मुसलमानों को अपना वोट बैंक सझती हैं। लेकिन, एआईएमआईएम की एंट्री के ऐलान ने इन सबका यह धार्मिक समीकरण बिगाड़ दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles