नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लागू करने पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने सोमवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को बहुत जल्द लागू किया जाएगा।कोविड-19 महामारी के कारण इस कार्य में देरी हुई है।

जेपी नड्डा ने कहा कि आप सभी को नागरिकता संशोधन कानून का लाभ मिलेगा। इसे संसद में पारित किया गया है। हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं। कोरोना वायरस महामारी के कारण सीएए के क्रियान्वयन में देरी हुई है। लेकिन जैसे-जैसे स्थिति में सुधार हो रहा है, काम शुरू हो गया है और अब नियम बनाए जा रहे हैं। इसे (सीएए) बहुत जल्द लागू किया जाएगा।

पश्चिम बंगाल सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के राज में इतने समय तक हिन्दू समाज के प्रति आघात किया गया। अब जब समझ में आ गया, तो हर समाज को जोड़ने के लिए फुसलाने का प्रयास हो रहा है। ये वो लोग हैं जो केवल वोटबैंक की राजनीति करते हैं, सिर्फ सत्ता में रहने के लिए राजनीति करते हैं।

नड्डा ने सिलीगुड़ी में एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि ममता ने राज्य में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लागू नहीं होने दिया, जिससे बंगाल के 76 लाख किसानों को इससे वंचित रखा गया है। इसी प्रकार राज्य के लोग आयुष्मान योजना के लाभ से वंचित हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे में अब पश्चिम बंगाल के लोगों का जिम्मा बनता है कि अप्रैल में भाजपा को लाओ, एक महीने में हम इसे लागू करके देंगे।

क्या है सीएए?

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के तहत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और क्रिस्चन धर्मों के प्रवासियों को नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है। वहीं नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश में कई जगहों पर हिंसक विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिले हैं। पश्चिम बंगाल और असम जैसे राज्यों में भी नागरिकता संशोधन कानून का विरोध किया गया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano