पटना | बिहार में बीजेपी के एक विधायक पर महिला विधान पार्षद के साथ छेड़खानी करने का आरोप लगा है. इस मामले में कार्यवाही करते हुए बीजेपी ने विधायक को पार्टी से निलंबित कर दिया. इसके अलावा उन्हें पार्टी के सभी पदों से भी निष्काषित कर दिया. हालाँकि विपक्ष ने बीजेपी पर मामले को कई दिन दबाने का आरोप लगाया है. उधर बीजेपी ने सफाई देते हुए कहा की शिकायत मिलते ही विधायक पर कार्यवाही कर दी गयी.

दरअसल लोक जनशक्ति पार्टी की विधान पार्षद नूतन सिंह ने बीजेपी विधायक लालबाबू प्रसाद पर छेड़खानी करने का आरोप लगाया. प्रत्यक्षदर्शियो के अनुसार लालबाबू ने जबरदस्ती नूतन सिंह का हाथ पकड़ा था, बताते चले की नूतन सिंह , एक अन्य बीजेपी विधायक नीरज बबलू की पत्नी है. जैसे ही नीरज को इस बात की खबर लगी उन्होंने बुधवार को, सदन की लॉबी में, लालबाबू प्रसाद के साथ हाथापाई शुरू कर दी. इस दौरान नीरज ने लालबाबू की खूब धुनाई की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पार्टी के दो विधायको के बीच हुई झड़प से विपक्षी पार्टियों को एक मुद्दा मिला गया. उन्होंने बीजेपी पर अपने विधायक को बचाने का आरोप लगाया और मांग की जल्द से जल्द लालबाबू के खिलाफ कार्यवाही की जाए. बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद ने विधानसभा में पत्रकारों से बात करते हुए कहा की बिहार विधानमंडल के इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी विधायक ने महिला विधान पार्षद के साथ छेड़खानी की हो.

तेजस्वी ने बीजेपी पर इस मुद्दे को दबाने का आरोप लगाते हुए कहा की हम इस मुद्दे को सदन से लेकर सड़क तक उठाएंगे. तेजस्वी ने लालबाबू पर कार्यवाही की मांग की. उधर जेडी(यु) ने भी बीजेपी पर हमला करते हुए कहा की उन्होंने उत्तर प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वाड का गठन किया है जबकि उन्हें खुद की पार्टी में ऐसे स्क्वाड की जरुरत है. मामले पर सफाई देते हुए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुशील मोदी ने कहा की उन्हे कोइ शिकायत नही मिली थी. शिकायत मिलते ही कार्यवाही की गयी है.

Loading...