Friday, January 28, 2022

योगी सरकार के खिलाफ 100 बीजेपी विधायकों ने ही खोला मोर्चा, लगाया उत्पीड़न का आरोप

- Advertisement -

यूपी विधानसभा में 100 से ज्यादा भाजपा विधायक अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गए। विपक्ष के विधायक भी उनके समर्थन में आ गए और विधायक एकता जिंदाबाद के नारे लगाए।

दरअसल, गाजियाबाद से बीजेपी विधायक नंद किशोर गुर्जर सदन में अपनी बात रख रहे थे, लेकिन उन्हें बोलने नहीं दिया गया। नंद किशोर का आरोप है कि उन्हें गाजियाबाद पुलिस ने प्रताड़ित किया है। इसी बात को लेकर वह विधानसभा में अपनी बात रखना चाहते थे, लेकिन सदन के अंदर उन्हें बोलने नहीं दिया गया।

नंद किशोर इस बात से नाराज होकर विधानसभा के अंदर धरने पर बैठ गए। इस दौरान उन्हें अन्य विधायकों का भी साथ मिला। गुर्जर के समर्थन में विपक्ष के विधायक भी लामबंद हो गए।

सपा नेता राम गोविंद चौधरी ने कहा कि हम सभी सदन के सदस्य हैं। एक विधायक का अपमान सबका अपमान है। अगर उसे सदन में अपनी बात रखने का मौका नहीं दिया जाएगा तो वो कहां बोलेगा? विधायकों का कहना था कि गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर सिंह को सदन में बुलाकर दंडित किया जाए।

हालांकि देर शाम वरिष्ठ मंत्रियों, विधायकों और अध्यक्ष की मीटिंग के बाद गतिरोध थम सका। सभी ने निजी तौर पर विधायक से वादा किया कि वो मामले में हस्तक्षेप करेंगे। अब विधायक ने कहा कि वो बुधवार यानी 18 दिसंबर तक का इंतजार करेंगे और अगर बात नहीं सुनी गई तो दोबारा प्रर्दशन शुरू करत देंगे।

बता दें कि विधायक ‘जीरो ऑवर’ शुरू होने के बाद प्रदर्शन करने लगे। इस वक्त विपक्षी पार्टियां (कांग्रेस, बीएसपी और एसपी) ने सदन में नए संशोधित नागरिकता कानून 2019 का मुद्दा उठाया और इस कानून को वापस लिए जाने का प्रस्ताव सदन में पास किए जाने की मांग की, क्योंकि बिल अशांति पैदा करेगा।

इसी बीच किशोर अपनी सीट से खड़े हुए और कहा कि उनकी जिंदगी को खतरा है। इसलिए वो खुद को निजी तौर पर सताए जाने का मुद्दा सदन में उठाना चाहते हैं। दरअसल लोनी विधायक को राज्य भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने स्थानीय फूड इंस्पेक्टर से कथित तौर पर बुरे बर्ताव के लिए उन्हें नोटिस भेजा था। इसके अलावा उनके खिलाफ एक एफआईआर भी दर्ज की गई।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles