hri

रियाणा के उचाना कलां से विधायक प्रेमलता ने बलात्कार के बढ़ते मामलों के लिए बेरोजगारी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि रेप जैसी घटनाओं के लिए फ्रस्टेटेड बच्चे जिम्मेदार हैं, जिन्हें नौकरियां नहीं मिली हैं। उन्होने कहा, ये ऐसे लोग हैं जिन्हें अपना भविष्य नजर नहीं आ रहा। ऐसे ही लोग इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते हैं, जो सही नहीं है। उन्होने ये बयान हरियाणा के महेंद्रगढ़ में 19 साल की छात्रा के साथ हुए गैंगरेप के मामले में दिया है।

बीजेपी विधायक प्रेमलता ने कहा, ‘ये एक गलत चीज शुरू हो गई है कि किसी भी लड़की को कहीं भी देखकर आदमी की नजर गलत हो जाती है। हमारे समाज में बच्चों में जो फ्रस्ट्रेशन आई हुई है, वो इसका एक कारण है। बच्चे जिनको नौकरियां नहीं मिलीं, जिनको भविष्य नजर नहीं आ रहा, जो इस तरह की गलत हरकत करते हैं, ये तो कोई अच्छी बात नहीं है।’

विधायक ने कहा सरकार ने इस तरह की घटनाओं को लेकर फांसी की सजा देने का फैसला लिया है लेकिन उसे कानून बनाने में अभी समय लगेगा। प्रेमलता ने कहा कि इस तरह की घटनाआें को रोकने के लिए समाज के सभी वर्ग के लोगों को सामने आना होगा।

बता दें कि तीन दिन पहले कनीना बस अड्डे से रेवाड़ी की एक छात्रा का अपहरण कर कुछ युवकों ने उसे नशा देकर सामूहिक दुष्‍कर्म किया। छात्रा उस समय कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। सीबीएसई की इस छात्रा को प्रधानमंत्री ने एक समय सम्‍मानित किया था और उसे राष्ट्रपति से भी पुरस्कार प्राप्त हुआ था।

हरियाणा के डीजीपी बीएस संधु के मुताबिक, इस वारदात को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी भारतीय सेना में काम करता है, जिसकी तैनाती राजस्थान में हैं। डीजीपी ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की एक टीम राजस्थान भेज दी गई है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें