allahabad 14

राजस्थान की राजनीति में अपने विवादों को लेकर पहचाने जाने वाले कोटा की लाडपुरा विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक भवानी सिंह राजावत द्वारा एक अफसर को धमकाने का मामला सामने आया है। राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के बावजूद भी उन्होने अपशब्द तक का प्रयोग कर डाला।

दरअसल, बीते बुधवार को राजावत भामाशाह मंडी में लगे समर्थन मूल्य के खरीद केंद्र के निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। मौके पर हुई एक बहस में उन्होंने अपने आपा खो दिया। इस दौरान उन्होने राजस्थान राज्य सहकारी विपणन संघ लिमिटेड के डिप्टी रजिस्ट्रार अजय सिंह पनवार को धमकाया। उन्होने कहा, ”अगर एक थप्पड़ मारा तो पैंट में पेशाब कर दोगे।”

राजावत भामाशाह मंडी में खरीद की गई उड़द दाल के भंडार के बारे में जानने के लिए पहुंचे थे। किसानों ने जब कहा कि खरीद प्रकिया में अनियमितताएं बरती गई तो विधायक अपना आपा खो बैठे और उन्होंने संबंधित अधिकारी तो बुला भेजा। पनवार के पहुंचने तक विधायक इंतजार करते रहे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विधायक ने कहा, 1,11,000 क्विंटल उड़द की दाल मंडी पहुंची थी, अब तक केवल 100 क्विंटल दाल खरीदी गई। उन्होंने अधिकारी को खरीद प्रकिया में तेजी लाने का निर्देश दिया। बाद में मीडिया से बात करते हुए राजावत ने कहा कि उन्होंने पनवार को डाटा क्योंकि अधिकारियों के रूखेपन के चलते किसान भारी नुकसान उठा रहे हैं। उन्होंने कहा, ”मैं किसानों के लिए अपनी आवाज उठाता रहूंगा।”

विधायक के विरोध में अब प्रदेश भर के सहकारिता विभाग के अधिकारी सहायक रजिस्ट्रार के पक्ष में उतर गए हैं। कोटा जिले के भी सभी मार्केटिंग सोसाइटी के कार्मिक अवकाश पर चले गए।

Loading...