महाराष्ट्र विधान परिषद (Maharashtra Legislative Council Polls) की 6 सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, भाजपा को सिर्फ एक सीट पर जीत मिली है। जबकि सत्तारूढ़ शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन ने 4 सीट पर जीत दर्ज की है। वहीं, एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार के खाते में गई।

हार स्वीकार करते हुए बीजेपी के नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘महाराष्ट्र विधानपरिषद चुनाव के परिणाम हमारी उम्मीदों के मुताबिक नहीं हैं। हम ज्यादा सीटों की उम्मीद कर रहे थे जबकि सिर्फ 1 सीट पर जीत मिली है। हमसे तीनों पार्टियों (महाविकास आघाड़ी) की सम्मिलित ताकत को आंकने में चूक हुई।’

वहीं महाराष्ट्र के मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा कि, “यह परिणाम पिछले एक साल में महा विकास अगाड़ी और हमारे द्वारा किए गए कार्यों को प्रमाणित करते हैं। भाजपा को सच्चाई समझने की जरूरत है। चुनाव के बाद सरकार बदलने के बारे में उनका दावा खोखला साबित हुआ है।”

बीजेपी की सबसे बुरी हार नागपुर स्नातक निर्वाचन क्षेत्र में हुई है। नागपुर को बीजेपी का गढ़ माना जाता है और इस सीट से पूर्व में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और फडणवीस के पिता गंगाधर राव फडणवीस जीत चुके हैं।

महाविकास आघाड़ी की जीत पर महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा, ‘विधानपरिषद चुनाव में आघाड़ी की जीत गठबंधन पार्टियों के बीच एकता का सबूत हैं।’ वहीं, शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भाजपा पर तंज कसते हुए लिखा, “दरअसल, भाजपा के लिए इस बुरे अंत ने राज्य के लोगों के लिए एक अच्छी शुरुआत सुनिश्चित की है!”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano