ipsingh

ऐतिहासिक शहर इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने को प्रदेश की योगी सरकार का देश में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में तीखा विरोध हो रहा है। ऐसे में अब बीजेपी नेताओं ने विरोधियों के खिलाफ विवादित बयान देना शुरू कर दिया है। भाजपा नेता आईपी सिंह ने ऐसे लोगों को पाकिस्तान जाने को कहा है।

भाजपा नेता आईपी सिंह ने एक ट्वीट कर कहा कि “यदि कांग्रेस ईमानदार होती तो धर्म के आधार पर देश के विभाजन के साथ ही सब बदल देना चाहिए था। लेकिन असफल PM जवाहरलाल नेहरु नहीं कर पाएं। अब रामजन्म भूमि पर मंदिर के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है, जबकि 85% हिंदूओं का देश है। भारत सही वक्त है सब बदल देना चाहिए, जिन्हें आपत्ति वे पाकिस्तान जाएं।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने को लेकर सपा नेता आजम खान ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी करनी है तो भाजपा या तो नौजवानों को नौकरी दे दे या फिर ताजमहल को गिराकर शिव मंदिर बना दे। उन्होंने कहा कि किसी ज़माने में किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज का नाम बदला गया था। तब दुनियाभर में उसका विरोध हुआ और नाम किंग जॉर्ज ही रहा। ऐसे ही रामपुर हमेशा से मुस्लिम बहुल इलाका रहा लेकिन इसका नाम रामपुर ही रहा, मुस्तफाबाद नहीं किया गया।

आजम खान ने कहा कि नाम तो दिलों पर लिखी इबारत होती है। खुले दिल के मुसलमानों ने नामों के साथ छेड़छाड़ नहीं की क्योंकि वे राम और मुस्तफा में फर्क नहीं करते। सपा नेता ने आशंका जताते हुए कहा कि कहीं सरकार मुस्लिमों से अपना नाम भी बदलने को न कह दे।

उन्होंने कहा कि भाजपा को 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी करनी है तो या तो 10 करोड़ नौजवानों को नौकरी दे या फिर ताजमहल को गिराकर शिवमंदिर बनाए। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद गिराई जा सकती है क्योंकि उससे कोई आमदनी नहीं। लेकिन ताजमहल नहीं गिराया जाएगा क्योंकि उससे तो करोड़ों का राजस्व आता है।

Loading...