isai

मुंबई. नॉर्थ मुंबई से सांसद और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल शेट्टी ने देश के ईसाई समुदाय को अंग्रेज़ करार देते हुए कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में ईसाइयों नेहिस्सा नहीं लिया था।

मुंबई के मलाड में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होने कहा कि भारत की आजादी में हिंदू-मुस्लिम एकजुट होकर लड़े थे, लेकिन ईसाई इसमें शामिल नहीं हुए थे क्योंकि वो अंग्रेज थे।

विवाद बढ़ने पर सांसद शेट्टी ने कहा, “मैं किसी भी तरह से पार्टी को शर्मिंदगी में नही डालना चाहते है और इसके लिए जो भी सही होगा वो करने के लिए तैयार है।”

उन्होंने कहा, “मैं बीजेपी का नेता हूं और मैं ये नहीं चाहता की मेरी वजह से पार्टी को किसी तरह की शर्मिंदगी झेलनी पड़े। मैं समाज को जोड़ने का काम करता हूं, मेरे कुछ कहने से अगर किसी समाज को दुख पहुंचता है तो मुझे अपने पद पर रहने का कोई हक नहीं है।”

सांसद शेट्टी ने कहा,”यह गलतफहमी का नतीजा है और जो मैंने कहा उसका गलत मतलब निकाल गया। मेरे लिया भारत और भारतीय पहले आते हैं। बीजपी ‘सबका साथ, सबका विकास’ के नारे के साथ आगे बढ़ रही है और मेना खुद का मानना है कि ‘मैं सबका, सब मेरे।”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?