shashikan

दिल्ली: केंद्र सरकार ने उर्चित पटेल के इस्तीफे के बाद नए गवर्नर के रूप में शक्तिकांत दास को आरबीआई का ग्रीगवर्नर नियुक्त किया है। हालांकि बीजेपी की और से उनकी नियुक्ति का विरोध होना शुरू हो गया। दरअसल, गुजरात बीजेपी के नेता जय नारायण व्यास ने बुधवार को RBI गवर्नर की डिग्री पर सवाल खड़े कर दिये।

बीजेपी नेता जय नारायण व्यास गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री थे। व्यास ने  RBI गवर्नर की डिग्री का जिक्र करते हुए एक ट्वीट में लिखा है, ‘नए RBI गवर्नर की शैक्षणिक योग्यता इतिहास में एमए है। उम्मीद और दुआ करता हूं कि कहीं वो RBI भी इतिहास न बना दें। भगवान नए आगमन पर आशिर्वाद दें।’

Loading...

उन्होंने कहा, मैं आईएएस अधिकारी दास का सम्मान करता हूं, लेकिन सवाल ये है कि वे बहुत सारी चीजों से थोड़ा-बहुत अवगत होते हैं, पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बीच स्वीकृति वैसी नहीं होती जो पहले के गवर्नरों की रही है।

इसी बीच शक्तिकांत दास के कॉलेज में उनके जूनियर रहे आईएएस अधिकारी आशिष जोशी ने भी दास की नियुक्ति को लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, मेरे सीनियर आरबीआई के गवर्नर बन गए हैं। उन्होंने कॉलेज में इतिहास का अध्ययन किया था। उनकी नियुक्ति से कॉलेज में इतिहास का अध्ययन करने वाले हम में से कई लोग इस बात से उत्साहित हैं, अब इतिहास के छात्र भी इस पद के लिए कोशिश कर सकते हैं।

बता दें कि कई मुद्दों को लेकर मोदी सरकार से विवाद के बाद उर्जित पटेल ने आरबीआई गवर्नर के पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद मंगलवार को मोदी सरकार ने तमिलनाडु कैडर के 1980 बैच के आईएएस अधिकारी शक्तिकांत दास (61) को रिजर्व बैंक का 25वां गवर्नर नियुक्त करने का आदेश जारी किया था। शक्तिकांत दास ने मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले में अहम भूमिका निभाई थी और वह इस फैसले के सबसे बड़े समर्थकों में माने जाते हैं।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें