पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज की कश्मीर पर किताब और उनके बयानों को लेकर कांग्रेस पर निशाना साध रही भाजपा बड़ी परेशानी मे आ गई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता अरुण शौरी ने सर्जिकल स्ट्राइक को फर्जिकल स्ट्राइक बताया है।

अरुण शौरी ने कहा है कि काम भारतीय सेना करती है लेकिन सरकार अपनी पीठ थपथपाती है। इस दौरान अरुण शौरी ने ये भी कहा कि मोदी सरकार के पास कश्मीर और पाकिस्तान को लेकर कोई नीति नहीं है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कश्मीर के लोगों को ‘विक्टिम कार्ड’ खेलना बन्द करना होगा।

अरुण शौरी ने सैफुद्दीन सोज को निशाने पर लेने वाले लोगों को नसीहत देते हुए कहा कि सोज समस्या नहीं है, वो एक समस्या को उजागर कर रहे हैं। उन्होने कि पुरानी बातों और पीछे किसने क्या किया क्या कहा इसे भुलाकर आगे बढना चाहिए। कश्मीर की स्वायत्ता की बात कुछ लिहाजा सही कुछ में गलत है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

modi

उन्होंने कश्मीर और नार्थ-ईस्ट की समस्या को लगभग एक जैसा बताते हुए कि सरकार सीधे संपर्क न करके सब कांट्रेक्ट करती है जो उचित नहीं है क्योंकि सरकार जो रकम भेजती है कहीं ने पहले दिल्ली के अधिकारी और फिर कश्मीर के अधिकारी राजनेता हिस्सा बांट लेते हैं इस लिहाज से स्वायत्तता ठीक नहीं है। जबकि सोज के मुताबिक अगर सीमा पर पांच किलोमीटर पर बसे लोगों को सुरक्षित बसाने उन्हें उतनी जमीन कहीं और देने की स्वात्तता अच्छा सुझाव है।

शौरी ने कांग्रेस नेताओं के कार्यक्रम में न पहुंचने पर भी तंज कसा और कहा कि अमित शाह के कहने पर आप डर गए। उन्होंने कहा कि सरकार पर आरोप लगाया कि सबका साथ सबका विकास नहीं कर पाई इसलिए हिंदू-मुसलमान में बांटा जा रहा है। सरकार इवेंट ओरियेंटेड और चुनाव ओरियेंटेड है। एक चुनाव इसलिए जीता जाता है ताकि दूसरा चुनाव जीता जा सके।

Loading...