उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनके बेटे जय शाह की कंपनी में कथित मुनाफे को लेकर कहा कि ‘बेटी बचाओ अभियान चलाने वाली पार्टी, अब बेटा बचाओ मुहिम’ में जुट गई है.

उन्होंने पीएम को बेचारा करार देते हुए कहा कि एक और जहां प्रधानमंत्री स्वयं को चाय बेचने वाला बताकर देश को मजबूती प्रदान करने का देश ही नहीं विदेशों में भी ढिंढ़ोरा पीट रहे हैं. वहीं सत्ता की चाबी संभाले पिता के पुत्र एक साल में सौ 16 हजार गुना ‘जय हो’ कंपनी से मुनाफा कमा कर नैतिकता वाली पार्टी की सच्चाई को भ्रष्ट्रचार के दलदल में धकेल दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदीजी कहते हैं हम परिवार नहीं देश की खातिर चौकीदार बनकर काम करेंगे. अब उन्हें बताना होगा वे चौकीदार हैं या भागीदार? जो पार्टी मंदिरों के नाम पर लोगों को वर्षों-वर्षों से गुमराह कर रही है. मंदिर बना या नहीं यह अलग की बात है, लेकिन टेम्पल भ्रष्ट्रचार से पार्टी जुड़ गई. यह बड़ी बात है. ऐसी पार्टी से क्या उम्मीद रखी जाए जो नंगा नाच कर ‘बेटी बचाओ’ छोड़कर ‘बेटा बचाओ’ मुुहिम में लग गई है.

राज बब्बर ने अमित शाह के इस्तीफे के साथ कंपनी के मामले की सर्वोच्च न्यायालय के दो न्यायाधीशों से जांच कराने की मांग की. साथ ही उन्होंने केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल की जय शाह का बचाव करने पर आलोचना की.

उन्होंने कहा, क्या जय शाह मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं, जिसकी वजह से एक कैबिनेट मंत्री को उनके बचाव में आना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को यह बताना होगा कि उनकी कैबिनेट का मंत्री किस हैसियत से बचाव में खड़ा हो सकता है.

Loading...