असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) और दलित नेता प्रकाश आंबेडकर की पार्टी के बीच हुए गठबंधन पर शिवसेना ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि ये गठबंधन बीजेपी ने कराया है।

शिवसेना नेता राउत ने एक समाचार चैनल से कहा, ‘‘इस बात के आरोप हैं कि इन दोनों दलों में भाजपा ने ही गठबंधन कराया है ताकि कांग्रेस को महाराष्ट्र में दलित और मुस्लिम मत नहीं मिलें।’’

एआईएमआईएम और आम्बेडकर की पार्टी भारिप बहुजन महासंघ ने पिछले महीने अगले साल होने वाले चुनावों में गठबंधन करने की घोषणा की थी। राउत ने कहा कि अगर आंबेडकर का कांग्रेस और एनसीपी से वैचारिक मतभेद हैं तो उसे शिवसेना के साथ गठजोड़ करना चाहिए था।

ओवैसी और अंबेडकर ने मराठवाड़ा के औरंगाबाद में साझा रैली कर चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान किया है। गठबंधन की घोषणा पर ओवैसी ने बताया कि आज दलित, मुस्लिम और पिछड़ों को दबाए जाने की साजिश रची जा रही है। अंबेडकर ने भारत को दुनिया का सबसे बडा संविधान दिया। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान का संविधान भाजपा ने दिया ? ।

बता दें कि महाराष्ट्र में 17 प्रतिशत दलित और 13 प्रतिशत मुस्लिम आबादी निवास करती है। प्रकाश अंबेडकर का महाराष्ट्र में दलितों और ओवैसी का मुस्लिम बहुल्य क्षेत्र के बीच पकड़ मजबूत है। आगामी चुनावों में यह गठबंधन कांग्रेस, एनसीपी और भाजपा को कड़ी चुनौती देंगे।