कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उप-चुनाव के लिए वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है। यह नतीजे कर्नाटक में बीजेपी सरकार की किस्मत को तय करेगा। इन सीटों पर पांच दिसम्बर को चुनाव हुआ था जिसमें 67.91 प्रतिशत मतदान हुआ था।

शुरुआती रुझानों में बीजेपी ने बढ़त बना ली है। हिरेकिरेरू, अथानी, गोकक सीट से बीजेपी आगे चल रही है। वहीं कांग्रेस को अभी 9 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है। बता दें कि सत्तारूढ़ पार्टी को 223 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिए कम से कम 7 सीटें चाहिए।

इस समय भाजपा के पास 105 विधायक (एक निर्दलीय समेत) हैं, कांग्रेस के 66 और जद (एस) के 34 विधायक हैं। इनके अलावा बसपा का एक सदस्य है, एक मनोनीत विधायक है और अध्यक्ष हैं।

evm 1

जुलाई में कांग्रेस-जेडीएस के कुल 17 विधायकों के इस्तीफे के कारण एचडी कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार गिर गई थी। इसके बाद बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी थी। इन विधायकों को तत्कालीन स्पीकर ने अयोग्य करार देकर चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी। मगर, सुप्रीम कोर्ट ने नवंबर में इन अयोग्य करार दिए गए विधायकों कोचुनाव लड़ने की अनुमति दी थी।

भाजपा ने पार्टी में शामिल हुए 16 में से 13 अयोग्य विधायकों को उनके संबंधित क्षेत्रों से टिकट दिया है। उन्होंने 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और जद (एस) के टिकटों पर जीत हासिल की थी। जिन 15 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है उनमें 12 पर कांग्रेस और तीन पर जद (एस) का कब्जा था।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन