बिहार के बेगूसराय में भगवा संगठनो के हमले के बाद जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने बीजेपी पर उन्हे हिंदू विरोधी बताकर बदनाम करने का आरोप लगाया है।

न्यूज18 से बातचीत में उन्होने अपने ऊपर हुए हमले के बारे में बताया और कहा कि हम मंसूरचक से सभा करके लौट रहे थे। भगवानपुर थाने के दहिया गांव में मेरे काफिले पर हमला किया गया। वो भारतीय जनता युवा मोर्चा और बजरंग दल के कार्यकर्ता थे। उनकी तस्वीरें सुशील मोदी के साथ है। उन्हें स्थानीय भाजपा एमएलसी रजनीश का संरक्षण प्राफ्त है। इनकी मंशा ही नुकसान पहुंचाने की थी।

उन्होने कहा कि ये भाजयुमो और बजरंग दल का सुनियोजित राजनीतिक हमला है ताकि मेरा चरित्र खराब किया जाए। यहां का माहौल खराब किया जाए। धार्मिक भक्ति भाव का माहौल है तो ये कैसे खराब किया जाए और मुझे हिंदू विरोधी बताया जाए। जिसकी पिटाई हुई वो कोई गैर राजनीतिक व्यक्ति नहीं है। वो भाजयुमो का आदमी है। रॉड था, डंडा था, पचास आदमी थे तो किसी एक ही आदमी का सिर फूटेगा। अगर ये सच्चाई होती तो 40-50 आदमी के सिर फूटते।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि इस मामले में कन्हैया के खिलाफ मुकदमा बजरंग दल के संयोजक शुभम भारद्वाज की तरफ से दर्ज कराया गया है जिसमे कहा गया है कि संगठन के कार्यकर्ता सानू पर कन्हैया समर्थकों ने जानलेवा हमला किया। सानू के सिर में चोट लगी थी।

कन्हैया कुमार बेगूसराय से 2019 लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की ओर से प्रत्याशी हो सकते हैं। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) की राज्य इकाई ने इस बाबत पहले ही एलान कर दिया है।

Loading...