muslim people praying
source: Youtube

कुल 203 सीटें वाले मध्‍य प्रदेश में 47 लाख से ज्यादा मुस्लिम हैं। जो कुल आबादी का करीब 6.5 प्रतिशत है। लेकिन कांग्रेस और बीजेपी ने सिर्फ 4 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए है।

कांग्रेस ने जहां विधानसभा चुनाव में 3 मुस्लिम चेहरे उतारे हैं तो वहीं बीजेपी ने पूरे प्रदेश में सिर्फ एक मुस्लिम प्रत्याशी को मैदान में उतारा है। बीजेपी ने भोपाल उत्तर से फातिमा सिद्दीकी को टिकट दिया है। जबकि कांग्रेस ने तीन मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं जिनमें से दो भोपाल से है। कांग्रेस ने भोपाल उत्तर से आरिफ अकील और भोपाल मध्य से आरिफ मसूद को टिकट दिया है और सिरोंज से मसर्रत शाहिद को मैदान में उतारा है।

बता दें कि बीजेपी ने पिछले विधानसभा चुनाव में भी सिर्फ एक मुस्लिम प्रत्याशी आरिफ बेग को ही मैदान में उतारा था।  कांग्रेस ने 2013 विधानसभा चुनाव में 5 मुस्लिम प्रत्याशियों आरिफ अकील, फिरोज अहमद खान, अब्दुल मजीद खान, आरिफ मसूद और यूसूफ काडापा को मैदान में उतारा था।

congress bjp 647 033117014707

साल 1962 में 7 मुस्लिम जनप्रतिनिधि चुनकर विधानसभा में आए थे। इसके अलावा साल 1977 से भोपाल उत्तर सीट से हमेशा मुस्लिम उम्मीदवार ही जीतता आया है। हालांकि 1993 का विधानसभा चुनाव इसका अपवाद रहा है। जबकि साल 1998 से ही आरिफ अकील इसी सीट से अजेय रहे हैं।

मुस्लिम प्रत्याशियों को मौका कम देने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह कहते है कि प्रदेश की आबादी में मुसलमानों की हिस्सेदारी को देखते हुए 10 के लगभग सीटों पर मुसलमानों को टिकट देना चाहिए लेकिन इस बार जीत के पैमाने को ध्यान में रखकर टिकट दिए गए हैं।

वहीं बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा का कहना है कि बीजेपी कभी भी धर्म को ध्यान में रखकर टिकट नही देती बल्कि जीतने वाले प्रत्याशी को ही मैदान में उतारती है ऐसे में टिकटों में हिन्दू-मुस्लिम वाली बात को वो खारिज करते हैं।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें