Saturday, June 12, 2021

 

 

 

बीजेपी केवल हिंदुत्व के मुद्दे पर चुनाव जीत सकती है, विकास के आधार पर नही-स्वामी

- Advertisement -
- Advertisement -

sswamy

लखनऊ | बीजेपी के कद्दावर नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रामण्यम स्वामी अक्सर अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते है. ऐसा नही है की उनके निशाने पर केवल विपक्षी दलों के नेता ही रहते है वो अपनी पार्टी के नेताओ पर भी हमला करते रहते है. उनके वित्त मंत्री के खिलाफ दिए गए कई बयानों को कौन भूल सकता है. इन बयानों के लिए वो प्रधानमंत्री मोदी से फटकार भी खा चुके है.

अपने ताजा बयान में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश की ही अवेहलना कर दी. एक कार्यक्रम में बोलते हुए स्वामी ने अपनी पार्टी को सलाह देते हुए कहा की हम केवल हिंदुत्व के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश का चुनाव जीत सकते है, विकास के आधार पर नही. स्वामी ने यह बयान देकर सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले का उलंघन किया है जिसमे उन्होंने धर्म के आधार पर वोट मांगने को गैर क़ानूनी करार दिया था.

लाइव इंडिया के अनुसार स्वामी ने कहा की हम पहले भी हिंदुत्व के आधार पर ही चुनाव जीते है. हमारे लिए चुनाव जीतने का आधार विकास नही है. इसलिए उत्तर प्रदेश के चुनावो को जीतने के लिए हमें हिंदुत्व का प्रचार करना होगा. यह पहला मौका नही है जब स्वामी ने हिंदुत्व को लेकर इस तरह के बयान दिए है. इससे पहले स्वामी ने एक यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में कहा था की बहुत जल्द राम मंदिर अयोध्या में बनेगा.

मालूम हो की बीजेपी की नीवं ही हिंदुत्व के मुद्दे पर टिकी है. राम मंदिर मुद्दे को हवा देकर उत्तर प्रदेश की सत्ता का स्वाद चखने वाली बीजेपी हमेशा से धर्म के नाम पर राजनीती करती आई है. इस बार के चुनावो में लग रहा था की उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा केवल विकास होगा लेकिन स्वामी ने इस तरह का बयान देकर धर्म आधारित राजनीती को एक बार फिर हवा दे दी है.

हालांकि कल सुप्रीम कोर्ट की 7 जजों की पीठ ने फैसला सुनाया की धर्म, जाति और भाषा के आधार पर वोट मांगना गैर क़ानूनी है. कोर्ट ने कहा की हमारा संविधान धर्मनिरपेक्ष है इसलिए चुनावो की प्रक्रिया में भी इसका पालन होना चाहिए. आज स्वामी ने हिंदुत्व पर बयान देकर सुप्रीम कोर्ट के इसी आदेश की अवेहलना की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles