pap

स्वर्ण समुदाय के संगठनों की और से बुलाए गए भारत बंद के दौरान बिहार में जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के प्रमुख और सांसद पप्पू यादव पर हमला हुआ। उनके साथ मारपीट की गई। उन पर ये हमला मधुबनी से पटना तक पैदल यात्रा के दौरान हुआ।

पप्पू यादव ने ट्वीट के जरिए अपने ऊपर हुए हमले की जानकारी दी। उन्होंने लिखा ‘नारी बचाओ पदयात्रा में मधुबनी जाने के दौरान हमारे काफिले पर भारत बंद के नाम पर गुंडों ने हमला किया। कार्यकर्ताओं को बुरी तरह जाति पूछ-पूछकर पीटा गया। आखिर बिहार में कोई शासन प्रशासन है, या नहीं। सीएम नीतीश कुमार आप किस कंभकर्णी नींद सोए हुए हैं।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पप्पू यादव ने अपने बयान में कहा है कि अगर सीआरपीएफ के जवान उनके साथ नहीं होते तो उनकी हत्या निश्चित थी। स्थिति ऐसी हो गई थी कि गोली चलानी पड़ सकती थी। पप्पू यादव ने कहा कि उनके काफिले में जितनी भी गाड़ियां थी सभी के शीशे टूट गए हैं। उनके मोबाइल को भी तोड़ दिया गया है। बस किसी भी तरह जान बच गई है।

आप बीती बताते हुए पप्पू यादव भावुक हो गए। उन्होंने कहा ‘हमें सभी जगह परेशान किया। मैं साथ में चल रहा था। जैसे मैं रुका मुझपर हमला कर दिया। मैंने उनलोगों से कहा कि मैं आपके समर्थन में हूं। सबका अपना-अपना विचार है। इसके बाद उन्होंने मुझे गालियां दी। उन्होंने मुझे कहा कि हम तुम्हें गुंडई दिखाते हैं। मेरा गार्ड नहीं होता तो वो मुझे मार देते। मैंने एसपी, आईजी, सीएम सबको फोन लगाया किसी ने फोन नहीं उठाया। सीएम के पीए ने फोन उठाया। मैंने उनसे बोला कि हम पर हमला हुआ है। किस तरह मारा है मैं बता नहीं सकता।’

Loading...