सीकर मामले में भोपाल विधायक का सीएम गहलोत को पत्र – कांग्रेस सरकार में ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण

राजस्थान के सीकर जिले में शुक्रवार को 52 साल के मुस्लिम ऑटोरिक्शा चालक (autorickshaw driver) को पीटने और  “जय श्री राम”-“मोदी जिंदाबाद” का नारा लगाने के लिए मजबूर करने के मामले में मध्य प्रदेश के भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद  ने सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिखा है।

अपने पत्र में उन्होने लिखा कि यह संपूर्ण घटनाक्रम राजस्थान में कांग्रेस की सरकार के होते हुए घटित होना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होने पुलिस कार्रवाई पर भी सवाल उठाया। उन्होने कहा कि आरोपियों के खिलाफ लूट सहित गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। उन्होने सीएम गहलोत से आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की मांग की।

पीड़ित गफ्फार अहमद कच्छवा के अनुसार, सुबह 4 बजे रेलवे स्टेशन पर अपने यात्रियों को उतारते समय, दो अज्ञात लोगों ने उन्हे रोका फिर “जय श्री राम” बोलने के लिए मजबूर किया और आगे बेरहमी से पीटा। गफ्फार ने कहा इन दोनों आरोपियों ने उनसे जबरदस्ती घड़ी और पैसे भी छीने।

पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर में, कछवा ने कहा कि लोगों ने उसे थप्पड़ मारा जब उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया। कछवा ने अपनी शिकायत में कहा, “उन पुरुषों में से एक ने मुझसे ‘मोदी जिंदाबाद’ का नारा लगाने को कहा और मैंने मना कर दिया… फिर उसने मुझे जोरदार थप्पड़ मारा। मैंने अपनी टैक्सी लेकर सीकर की ओर भागने की कोशिश की। लेकिन उन्होंने अपनी कार से मेरा पीछा किया और जगमालपुरा के पास मेरी गाड़ी रोक ली।

कछवा ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्होंने मुझे गाड़ी से उतरने के लिए मजबूर किया और उन्होंने मुझे बुरी तरह से पीटा… पुरुषों ने गालियां दीं और मुझे ‘मोदी जिंदाबाद’ और ‘जय श्री राम’ बोलने के लिए मजबूर किया। कछवा ने अपनी FIR में कहा है, “पुरुषों ने मेरी दाढ़ी खींची, मुझे लात मारी और मुक्का मारा, जिससे मेरे 2-3 दांत टूट गए… मेरी बाईं आंख, गाल और सिर पर गंभीर चोटें आईं क्योंकि उन्होंने मुझे पर डंडे से हमला किया। मुझे पीटने के बाद, उन्होंने कहा कि हम तुम्हें पाकिस्तान भेजने के बाद ही दम लेंगे।”

विज्ञापन