अयोध्या विवाद मामले में सरसंघचालक मोहन भागवत के बयान को लेकर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या मोहन भागवत देश के चीफ जस्टिस हैं. जो दावा कर रहे है कि अयोध्या में सिर्फ मंदिर ही बनेगा.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है. क्या मोहन भागवत चीफ जस्टिस हैं? वह हैं कौन?  आखिर किस अधिकार से मोहन भागवत यह कह रहे हैं कि मंदिर अयोध्या में ही बनेगा?

ध्यान रहे बीते दिनो कर्नाटक के उड़पि में आयोजित एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा था कि राम जन्मभूमि  स्थल पर कोई दूसरा ढांचा नहीं बनाया जा सकता. उनका ये बयान ऐसे समय में आया, जब सुप्रीम कोर्ट में 5 दिसंबर से इस मामले पर आखिरी सुनवाई होने जा रही है.

इससे पहले इसी मामले में ओवैसी ने कहा था कि संघ और बीजेपी राम मंदिर पर  बयान देकर गुजरात चुनाव में इसका राजनीतिक फायदा उठाना चाहते है. उन्होंने कहा था कि आरएसएस आग से खेल रहा है और सुप्रीम कोर्ट इस पर संज्ञान लेगा.

ओवैसी ने कहा था, सुप्रीम कोर्ट संज्ञान लेगा कि किस तरह से सरकार, बीजेपी और आरएसएस पूरे देश में तनाव का माहौल बनाना चाहते हैं. जब पांच दिसंबर को सुनवाई होनी है तो इसे देशभर में राजनीतिक मुद्दा बनाओ ताकि राजनीतिक फायदा लिया जा सके.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?