nikhil siwani 650x400 71508738272

अहमदाबाद | गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावो से पहले देश की दो मुख्य पार्टी बीजेपी और कांग्रेस के बीच जोरदार घमासान देखने को मिल रहा है. जहाँ बीजेपी किसी भी हाल में गुजरात को दोबारा फतह करना चाहती है वही कांग्रेस प्रदेश में 22 साल के सत्ता के सूखे को खत्म करना चाहती है. इसलिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी एक नए तेवर के साथ चुनाव प्रचार करने में लगे है. यह राहुल के प्रचार का ही नतीजा है की बीजेपी में फ़िलहाल खलबली मच चुकी है.

इसके अलावा पाटीदार और दलित समाज की नाराजगी की वजह से भी बीजेपी की राहे मुश्किल दिख रही है. इसलिए बीजेपी किसी भी तरीके से पाटीदार समाज को अपनी और करने की कोशिश कर रही है. लेकिन तमाम कोशिशो के बावजूद भी उनकी कोशिशे सफल होती नही दिख रही है. रविवार को पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक नरेंद्र पटेल ने बीजेपी ज्वाइन कर सबको चौंका दिया लेकिन कुछ देर बाद ही उन्होंने बीजेपी पर कई गंभीर आरोप लगाए.

कल रात नरेन्द्र पटेल ने बीजेपी को झटका दिया तो आज बारी पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता निखिल सवानी की थी. निखिल एक महीने पहले ही अपने 150 समर्थको के साथ बीजेपी में शामिल हुए थे. सोमवार को उन्होंने बीजेपी पर खरीद फरोख्त में शामिल होने का आरोप लगाते हुए बीजेपी छोड़ने का एलान किया. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर केवल चुनावी घोषणाये करने का आरोप लगाया.

निखिल ने कहा की बीजेपी ने जिन योजनाओं का ऐलान किया था वो महज़ चुनावी हथकंडा साबित हुआ. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस में जाने के भी संकेद दिए. उन्होंने कहा की जो पाटीदारों के हित की बात करेगा वे उनका समर्थन करेंगे और इस सिलसिले में वह राहुल गांधी से भी मिलेंगे. निखिल से पहले नरेन्द्र पटेल ने रविवार रात को प्रेस कांफ्रेंस कर की बीजेपी ने उसे एक करोड़ रूपए में खरीदने की कोशिश की. नरेन्द्र ने आरोप लगाते हुए दस लाख रूपए कैश भी दिखाए और आरोप लगाया की बीजेपी ने पहली क़िस्त के तौर पर उसे ये रूपए दिए थे.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano