op rajbhar nt 5b6551c21d8f1

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और अब फैजाबाद का नाम अयोध्या करने के बाद अब मुस्लिम नामों वाले स्थानों की पूरी लिस्ट ही जारी कर दी गई है। रोज एक नए नाम के साथ बीजेपी नेता सामने आ रहे है।ऐसे में अब योगी केबिनेट में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने तंज़ कसा है।

उन्होने कहा कि  बीजेपी सरकार पिछड़ों का ध्यान भटकाने के लिए शहरों का नाम बदलने का ड्रामा कर रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी पहले अपने मुस्लिम नेताओं के नाम बदले। राजभर ने बीजेपी से तीनों मुस्लिम नेताओं शाहनवाज हुसैन, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और मोहसिन रजा का नाम लेते हुए कहा कि शहरों का नाम बदलने से पहले इन मुस्लिम नेताओं का नाम बदला जाये।

उन्होंने कहा कि मुस्लिमों ने जो निर्माण कार्य देश में कराया वह किसी और ने नहीं कराया। इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम सिर्फ इसलिए बदल देना क्योंकि वह मुगल के नाम पर हैं, सरासर गलत है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार इस तरह के नाटक पिछड़े वर्ग के लोगों की आवाज को दबाने और उनका ध्यान मुद्दों से भटकाने के लिए कर रही है। जब भी शोषित वर्ग अपनी आवाज उठाने की कोशिश करता है, बीजीपी कोई न कोई नया मुद्दा छेड़ देती है। राजभर ने बीजेपी सरकार से सवाल किया कि लाल किला और ताजमहल किसने बनवाया?

बता दें कि मुगलसराय, इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदलने के बाद अब आगरा और मुजफ्फरनगर का नाम बदलने की बात कहीं जा रही है। वहीं यूपी के बाहर अहमदाबाद, हैदराबाद, औरंगाबाद, उस्मानाबाद आदि के नाम बदलने की मांग हो रही है।

Loading...