नई दिल्ली | 2014 में केंद्र में नरेन्द्र मोदी की सरकार बनने के बाद से देश की राजनीती में अप्रत्याशीत तौर पर बदलाव देखने को मिला है. जहाँ बीजेपी लगातार जीत का परचम लहरा रही है तो वही विपक्षी दल अपना वजूद बचाने के लिए संघर्ष करती दिख रही है. यही कारण है की अब सभी विपक्षी दल , बीजेपी को मात देने के लिए एकजुट होने पर जोर दे रही है. पहले लालू प्रसाद यादव यह कोशिश कर रहे थे तो अब नम्बर बसपा सुप्रीमो मायावती का है.

दरअसल बसपा ने सभी विपक्षी दलों से एकजुट होने की अपील की है. कभी गठबंधन राजनीती से दूर रहने वाली मायावती अब अपना वजूद को बचाने के लिए ,समाजवादी पार्टी के साथ भी गठबंधन करने के लिए तैयार है. इसकी पहल करते हुए बसपा ने अपने ट्वीटर हैंडल से एक तस्वीर पोस्ट की है. इस तस्वीर में सभी विपक्षी दलों के बड़े नेताओं की तस्वीर लगी हुई है. चौकाने वाली बात यह है की तस्वीर में सपा प्रमुख अखिलेश यादव की भी तस्वीर है.

पोस्टर में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी, ममता बनर्जी, शरद यादव, लालू यादव और अखिलेश यादव के साथ मायावती की तस्वीर लगी हुई है. जहाँ मायावती की तस्वीर बड़ी है वही बाकी नेताओं की सामान तस्वीर रखी गयी है. इस तस्वीर में लिखा गया है की सामाजिक न्याय के समर्थन में विपक्ष हो. दरअसल मायावती बीजेपी को हराने के लिए पुरे विपक्ष से एकजुट होने की अपील कर रही है. इस ट्वीट को बसपा नेता सुधेन्द्र भदोरिया ने भी रीट्वीट किया है.

उन्होंने लिखा की बहन मायावती के नेतृत्व में विपक्ष समता मूलक समाज बनाने की दिशा में आगे आए. बताते चले की कुछ इस तरह की पहल जेडीयु के बागी नेता शरद यादव ने 17 अगस्त को भी की. उन्होंने साझा विरासत नामक सम्मलेन में सभी विपक्षी पार्टियों के नेताओं को आमंत्रित किया. इसमें करीब 17 पार्टियों के नेताओं ने शिरकत की. उधर लालू प्रसाद यादव ने भी सभी विपक्षी पार्टियों से 27 अगस्त को पटना में होने वाली महारैली में आमंत्रित किया है. रैली में शामिल होने के लिए मायवती और अखिलेश यादव ने हामी भी भर दी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?