कोलकाता: एनआरसी के मुद्दे पर हंगामे के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि टीएमसी का वोटबैंक बांग्लादेशी घुसपैठिए है। इसीलिए उनकी पार्टी TMC एनआरसी का विरोध कर रही है।

उन्होंने कहा कि वह (बनर्जी) ‘वोट-बैंक की राजनीति’ के कारण एनआरसी के खिलाफ है। उन्होंने आरोप लगाया कि बांग्लादेशी घुसपैठिये पूर्व की वामपंथी सरकार का वोट बैंक थे और अब वे टीएमसी का एक वोट बैंक बन गए हैं। शाह ने कहा, ‘राहुल गांधी और ममता दीदी को यह स्पष्ट करना चाहिए कि उनके लिए राष्ट्रीय सुरक्षा महत्वपूर्ण है या वोट बैंक। भाजपा के लिए देश पहले आता है।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसके बाद उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी यह भ्रांति फैला रही हैं कि एनआरसी के तहत शरणार्थी भी चले जाएंगे, लेकिन मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि शरणार्थियों को वापस भेजने का कोई कार्यक्रम नहीं है। शरणार्थियों को यहां रखना भारत सरकार की जिम्मेदारी है।

इस मामले में टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने अमित शाह से माफी की मांग की, उन्होने कहा, ‘अमित शाह की बैठक एक फ्लॉप शो था, उन्होंने बंगाल का अपमान किया। वह बंगाल की संस्कृति को नहीं समझते और उन्होंने अपने झूठ से बंगाल का अपमान किया। अगर वह अगले 72 घंटों में माफी नहीं मांगते तो हम उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।’