Friday, September 24, 2021

 

 

 

PM मोदी कर रहे इंकार, बीजेपी का दावा – CAA के बाद देशभर में लागू होगा NRC

- Advertisement -
- Advertisement -

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) कानून को लेकर बेकफूट पर आई मोदी सरकार ने हाल ही में कहा था कि देश में राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (NPR) कानून को लागू करने की उसका फिलहाल कोई इरादा नहीं है। लेकिन पश्चिम बंगाल बीजेपी इसके उलट दावा कर रही है कि सीएए लागू होने के बाद राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (NPR) को लाया जाएगा।

पश्चिम बंगाल भाजपा ने अपनी एक पुस्तक में दावा किया है कि सीएए लागू होने के बाद राष्ट्रीय नागरिकता पंजी को लाया जाएगा। संशोधित नागरिकता कानून के पक्ष में भाजपा के राज्यव्यापी अभियान के तहत अंग्रेजी, हिंदी और बंगाली में 23 पन्नों की एक पुस्तिका तैयार की गई है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि सीएए को प्रश्न एवं उत्तर के प्रारूप में सरलता से स्पष्ट किया गया है, ताकि कानून के संबंध में लोगों के भय को दूर किया जा सके।

पुस्तिका में ‘‘इसके बाद क्या एनआरसी लाया जाएगा? इसकी कितनी जरूरत है? और एनआरसी आने पर क्या असम की तरह हिन्दुओं को निरोध केन्द्र में जाना पड़ेगा? जैसे सवाल हैं।’’ इनके जवाब में कहा गया है, ‘‘हां, इसके बाद एनआरसी होगा। कम से कम ऐसी केन्द्र सरकार की मंशा है।’’
bjp
पुस्तिका में दावा किया गया कि हिन्दुओं को एनआरसी की वजह से नहीं बल्कि विदेशी कानून की वजह से निरोध केन्द्र जाना पड़ा है। पुस्तिका में कहा, ‘‘ उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार और कांग्रेस द्वारा पारित विदेशी कानून के तहत असम में एनआरसी लागू किया गया। असम में भाजपा सरकार एनआरसी नहीं लाई। बल्कि उसने तो एनआरसी के खिलाफ अदालत में जाने का निर्णय किया था।’’ उसने कहा कि सीएए के लागू होने के बाद असम में निरोध केन्द्र में बंद हिन्दुओं को छोड़ दिया जाएगा।
इसी बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने एनपीआर, एनआरसी और सीएए पर मोदी सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एनपीआर साफ तौर पर एनआरसी से जुड़ा हुआ है। गृह मंत्री ने साफतौर पर यह क्यों नहीं कहा कि हम एनपीआर कर रहे हैं, एनआरसी नहीं करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles