नई दिल्ली | चंडीगढ़ में आईएस की लड़की के साथ हुए छेड़छाड़ ने पुरे देश में हलचल मचा के रख दी है. खासकर मामले में बीजेपी नेता के बेटे का नाम सामने आने के बाद इसने सियासी रंग भी लेना शुरू कर दिया है. चौकाने वाली बात यह है की कई बीजेपी नेताओं ने आरोपी का बचाव करते हुए पीडिता पर सवाल खड़े कर दिए है. अब इस कड़ी में केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का नाम भी जुड़ गया है. सुप्रियो ने आरोपी के खिलाफ अपहरण की धारा लगाने पर सवाल खड़े किये है.

मंगलवार को सुप्रियो ने एक के बाद एक ट्वीट कर मीडिया की भूमिका पर भी सवाल खड़े किये. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,’ तर्कसंगत सोचिये की एक लड़का लड़की की गाडी का पीछा कर रहा था, उसने पी हुई थी, यह खेदजनक है लेकिन उस बिना किसी जांच के अपहरण का चार्ज क्यों लगाया गया.’ सुप्रियो के इस ट्वीट का जवाब देते हुए एक पत्रकार कर्णिका कोहली ने पुछा की आप क्या सोचते है की वो किस लिए लड़की की गाड़ी का पीछा कर रहे थे. क्या पकडम पकड़ाई खेलना था.

अपने दुसरे ट्वीट में कर्णिका ने करारा जवाब देते हुए लिखा की लड़की का पीछा करना खेदजनक नही बल्कि एक अपराध है जो एक महिला की सुरक्षा एवं जान के लिए खतरा भी हो सकता है. कर्णिका के जवाब से सकते में आये बाबुल ने आगे लिखा,’ इस मामले में लड़के के पिता का नाम क्यों घसीटा गया, सिर्फ इसलिए की इससे अच्छी हैडलाइन बनती है. जैसे देश की बेटी को इन्साफ चाहिए, वगैरहा , वगैरहा क्यों?

अपने अगले ट्वीट में बाबुल ने सवाल किया की आखिर ये लोग केरल में दो लोगो की हत्या हो जाने पर क्यों नही बोलते, बंगाल में 61 साल की महिला के साथ बलात्कार होने भी ये खामोश रहे. इस दौरान बाबुल ने कर्णिका के प्रोफेशन पर भी सवाल खड़े किये. इसके अलावा उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा की मेरा अकाउंट हैक नही हुआ है और मैं ट्रोल करने वालो से अच्छी तरह निपटाना जानता हूँ.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?