बाबरी मस्जिद की शहादत को 25 साल का अरसा गुजर चूका हैं लेकिन इसे गुनाहगारों को अब भी सजा नही मिली हैं. इसी बीच अब सुप्रीम कोर्ट ने इस मामलें में सीबीआई को सभी 13 आरोपियों के खिलाफ आपराधिक साजिश की पूरक चार्जशीट दाखिल करने का आदेश दिया हैं. ऐसे में इन सभी आरोपियों के खिलाफ केस चल सकता हैं.

सुप्रीम कोर्ट इस संबंध में 22 मार्च को अपना फैसला भी सुना सकती है. इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा कि उन्होंने अयोध्या आन्दोलन में हिस्सा लिया था और बाबरी मस्जिद विध्वंश मामले में यदि उन्हें कोई सजा हुई तो उसे वह भगवान का प्रसाद मानकर स्वीकार करेंगी.

उन्होंने आगे कहा कि अयोध्या आन्दोलन में उनकी भागीदारी थी और इससे वह अपने को गौरवान्वित महसूस करती है. सज़ा को लेकर उन्होंने कहा कि वह न्यायालय के फैसले को स्वीकार करेंगी और उसे भगवान का प्रसाद मानेगी.

याद रहे साल 2010 में हाई कोर्ट ने बीजेपी नेता एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह सहित अन्य नेताओं को आपराधिक षडयंत्र के आरोपों से मुक्त कर दिया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?