समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री मोहम्मद आजम खान ने अयोध्या विवाद के मामलें में सुप्रीम कोर्ट की नसीहत पर कहा कि ये एक अच्छी पहल है.

उन्होंने कहा कि इस मामलें की शुरुआत धार्मिक लोगों ने की हैं तो ज़ाहिर है मज़हबी लोग ही इसमें समझौता भी करा सकते हैं. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि इस मामलें में उलेमा काउंसिल, दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी से बात करनी चाहिए. वे ही इस मसले में कोई समझौता करा सकते हैं.

खान ने कहा कि हैदराबाद के बहुत बड़े लीडर और मुसलमानों के बड़े रहनुमा मौलाना असद्दुदीन ओवैसी उनसे (आदित्यनाथ योगी से) बात करें. उन्होंने बरेली के मौलाना तौक़ीर रज़ा खान का जिक्र करते हुए कहा अगर ये लोग तैयार हैं तो ज़ाहिर है कि हिंदुस्तान के मुसलमानों को कोई परेशानी नहीं होगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सपा नेता ने आगे कहा ये ही वो उलेमा हैं जिनको पूरा हिंदुस्तान के मुसलमानों को कोई परेशानी नहीं होगी, क्योंकि ये ही वो उलेमा हैं जिनको पूरा हिंदुस्तान जानता है कि यह सभी भारतीय जनता पार्टी के बेहद करीबी हैं, इन सभी ने भाजपा के लिए काम किया है इसलिए अयोध्या मसले पर भाजपा से कोई समझौता होता है तो यह जरूर विचार करेंगे.

Loading...