खादी ग्रामोद्योग के कैलेंडर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर के स्थान पर प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को लेकर सपा नेता आजम खान ने कहा कि गोडसे ने बापू की हत्या की, मोदी ने बापू की तस्वीर हटा दी, तो जाहिर सी बात है वह महान ही हुए.

उन्होंने कहा कि ‘‘गांधीजी ने चरखे के मूवमेंट को राजनीतिक लाभ लेने के लिए नहीं शुरू किया था बल्कि उन्होंने इसलिए शुरू किया था कि हमारा पैसा अंग्रेजों के पास न जाए. क्योंकि लंदन हिंदुस्‍तान से कमाता था और राज भी करता था. मानचेस्टर के पांच बड़े कारखाने हिंदुस्तान से खूब पैसा कमाते थे और पूरा लंदन रईस हो गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आजम ने आगे कहा कि बापू का कांसेप्ट ये था कि अगर हम अपना कपड़ा खुद बनाएंगे तो एक तो सात समंदर पार की गुलामी से बचेंगे. दूसरा उन लोगों के पास हमारा पैसा नहीं जाएगा, तीसरा हमारे गांव स्वावलम्बी होंगे और हम अपने पैरों पर खड़े होंगे. बापू का यही उद्देश्य था और कुछ भी नहीं.

सपा नेता ने कहा, ‘गोडसे ने बापू की हत्या की और मोदी जी ने बापू की तस्वीर हटा दी. तो जाहिर बात है महान तो मादी जी हैं.’ उन्होंने कहा, ‘पहले नाथू राम गोडसे ने बापू को हटाया और नाथू राम गोडसे के दिवस मनाये जाने लगे. सम्मान होने लगा. उनका मंदिर भी बना.’ उन्होंने आगे कहा, इसमें शिकायत क्या है? जो सोच सत्‍ता में आएगी, वही काम करेगी.

Loading...