समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने आज भाजपा के शिव बहादुर सक्सेना को 47,000 मतों के अंतर से हराकर नौवीं बार रामपुर सिटी विधानसभा सीट बरकरार रखी. हालांकि वर्ष 2012 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में खान की जीत 60,000 से अधिक वोटों के अंतर से हुई थी.

इसी के साथ अब्दुल्ला आजम भी स्वार टांडा सीट से निर्वाचित हुए हैं. खान के बेटे अब्दुल्ला आजम ने बसपा के नवाब काजिम अली खान और भाजपा की लक्ष्मी सैनी को हराया है. भाजपा ने रामपुर जिले में पांच विधानसभा सीटों में दो पर जीत दर्ज की है.

बीजेपी की जीत पर आजम ने तंज कसते हुए कहा कि  कहा कि अब कब्रिस्तान खत्म हो जाएंगे तो क्या हुआ हम शमशान में दफन हो जाएंगे. अब होली पर लाइट आएगी, ईद और नहीं आएगी. तो क्या हुआ हम सिवईयाँ लकड़ी पर बना लेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रामपुर जिले में पांच विधानसभा सीटों में दो पर बीजेपी की जीत पर आजम ने कहा कि 3 सीटों पर सिर्फ सेकुलरिज्म जीता है बाकी पूरे प्रदेश में कामुनलिस्म की जीत हुई. यह लड़ाई जारी रहेगी, जिसमें सेकुलरिस्म की जीत होगी.

Loading...