उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने कहा कि वर्तमान में देश भर में युद्ध जैसे हालात बन गए हैं। जिसमें मुसलमानों को अपमानित किया जा रहा है। इसमें केन्द्र के कई मंत्री आग लगाने का कार्य कर रहे हैं।

अयोध्या में राम मंदिर के मसले पर कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। 1992 में जब मस्जिद तोड़ी गई थी तब किसी ने कहां विरोध किया था, उस पर पक्की तामीर रोकने के लिए कौन कह रहा है। आजम खान ने कहा कि वह मुसलमानों के साथ ही दलितों और पिछड़ों को एकजुट करेंगे।

सपा में चल रहे बिखराव पर आजम ने कहा कि दो कश्ती पर सवार नहीं होंगे, पार्टी में पूरी अहमियत मिल रही है, कश्ती डूबेगी तो हम भी डूबेंगे। यह पूछने पर क्या लोकसभा चुनाव में अधिक मुसलमानों को टिकट देने का दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है, पर मुस्कारते हुए कहा कि अभी तो पार्टी में पूरी अहमियत मिल रही है। जिसे कह देंगे, उसे टिकट मिलता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bjp

वहीं बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह भाजपा की राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’ हैं। उनके नाम पर उत्तर प्रदेश का पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा गया था और अब उनके नाम पर ही आगामी लोकसभा चुनाव भी लड़ा जाएगा।

उन्होने कहा, मेरा तो यह हाल कर दिया है कि मुझे खुद नहीं पता कि मेरे ऊपर कितने मुकदमे दर्ज कर दिए गए हैं। मेरे नाम से कितने सम्मन और वारंट जारी कर दिए गए हैं, मैं तो बस उन्ही मुकदमों की पैरवी करता घूमता रहता हूं।’

उन्होंने कहा कि उनके पास कोई सम्पत्ति नहीं है। उनका सिर्फ एक बैंक खाता है जो विधान भवन में स्थित एसबीआई की शाखा में है। इसके सिवा अगर देश के किसी भी बैंक में उनका कोई खाता मिल जाये तो उनको कुतुबमीनार पर फांसी दे दी जाए।

Loading...