ट्रिपल तलाक बिल पर बोले आज़म खान – ‘मुसलमानों के लिए कुरान से बढ़कर कुछ भी नहीं’

5:16 pm Published by:-Hindi News

लोकसभा में सरकार की ओर से शुक्रवार को ट्रिपल तलाक के खिलाफ बिल पेश किया गया। इस बिल के समर्थन में कुल 186 वोट पड़े वहीं इस बिल के विरोध में 74 वोट पड़े। बिल को लेकर रामपुर से सपा के सांसद आजम खान ने भी कहा कि जो कुरान कहता है वही हम मानेंगे।

आजम खां ने कहा कि, ‘हमारी पार्टी का स्टैंड वही है जो कुरान में लिखा है। कोई भी धर्म महिलाओं को उतनी आजादी नहीं देता जितना इस्लाम ने दिया है। 1500 साल पहले इस्लाम ही वो धर्म था जिसने महिलाओं को सबसे पहले समानता का अधिकार दिया था। आज के समय में इस्लाम में सबसे कम तलाक होते हैं और महिलाओं के खिलाफ हिंसा भी इस्लाम में सबसे कम होती है। महिलाओँ को जलाया या उनकी हत्या नहीं की जाती।’

आजम खां आगे बोले, तीन तलाक एक धार्मिक मुद्दा है, राजनीतिक नहीं और एक मुसलमान के लिए कोई भी चीज कुरान के ऊपर नहीं है। शादी, तलाक और हर चीज के लिए कुरान में साफ-साफ निर्देश है। इसी के साथ खान ने दावा किया कि आज तलाक और महिलाओं के प्रति हिंसा की खबरें सबसे कम इस्लाम धर्म में ही सुनने को मिलती हैं। महिलाओं की जलाया या उनकी हत्या नहीं की जाती है।

वहीं बिल पेश होने से पहले समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन इसके विरोध में उतर आए हैं। मुरादाबाद से सांसद एसटी हसन ने कहा कि मैं ट्रिपल तलाक बिल का विरोध करता हूं। सपा सांसद एसटी हसन ने कहा कि इस बिल को लाकर सरकार व्यवस्था बिगाड़ना चाहती है। राष्ट्रपति को अपने अभिभाषण में ट्रिपल तलाक का मुद्दा नहीं उठाना चाहिए। हमारे हिसाब से ट्रिपल तलाक चलते रहना चाहिए।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें