बालाकोट एयरस्ट्राइक पर बोले आजम खान – 400 लोग मरे लेकिन एक का भी जनाजा नहीं दिखा

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खान ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के कोटलाबाद में जैश-ए-मोहम्मद के शिविर पर की गई एयर स्ट्राइक पर बुधवार को कहा कि 400 लोग पड़ोसी मुल्क में मारे गए, लेकिन किसी का जनाजा नहीं दिखा। उन्होंने कहा कि यह बात वह अपने देश से नहीं, पड़ोसी मुल्क से पूछ रहे हैं।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होने कहा, “अगर मैं प्रधानमंत्री होता तो पुलवामा हमले के बाद 40 सेकेंड का भी इंतजार नहीं करता और हमला कर देता। मुझे पता चला कि वायुसेना के हमले में 400 लोग पड़ोसी मुल्क में मारे गए, लेकिन किसी का जनाजा नहीं दिखा। यह बात मैं अपने देश से नहीं, पड़ोसी मुल्क से पूछ रहा हूं।”

आजम ने कहा, “शिक्षा के क्षेत्र में मैंने जितना काम किया है, पिछले 100 सालों में किसी ने नहीं किया। मैंने जो अस्पताल बनवाया है, जिसे अभी मान्यता नहीं मिली है, वह अस्पताल एशिया के सबसे बेहतरीन अस्पतालों में से एक है। लेकिन सरकार ने उसकी दीवारों को तोड़ा। उर्दू दरवाजा तोड़ दिया।”

उन्होंने कहा, “छोटे बच्चों को कान पकड़ कर मारा जा रहा है। पानी बंद किया जा रहा है। सरकार अगर अन्याय करे, तो जनता को उसे हटा देना चाहिए। जहां मानवता खत्म हो गई हो, वह सरकार चलाने वाले से गुहार नहीं लगा सकते। मैं बादशाह को बादशाह नहीं, बल्कि शहंशाह कहता हूं।” उन्होंने कहा, “भाजपा के पास प्रत्याशी बचे नहीं है। रामपुर में मेरे खिलाफ तो इम्पोर्ट करके उम्मीदवार लाया गया है।”

उन्होंने कहा कि जौहर विश्वविद्यालय को पानी नहीं दिया जा रहा है. एसआईटी की तलवार आज भी मेरे ऊपर लटकी है। बीजेपी छोड़ सपा में शामिल हुए अंशुल वर्मा पर उन्होंने कहा कि कह सकते है बदलते हालात की तश्वीर है। उन्होंने कहा कि सरकार अगर अन्याय करे तो जनता को उसे हटा देना चाहिए।

विज्ञापन