default

केरल के बीजेपी अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने सबरीमाला मंदिर विवाद से जुड़ा एक ऑडियो सामने आया है। जिसने  केरल की राजनीति में हड़कंप मचा दिया है।

इस ऑडियो में वो बीजेपी कार्यकर्ताओं से कह रहे हैं कि सबरीमाला के मुख्य पुजारी ने उनसे बात की थी कि यदि महिलाएं मंदिर में घुसने की कोशिश करेंगी की तो वो उसके द्वार बंद कर देंगे। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों पिल्लई ने कोझीकोड में युवा मोर्चा को संबोधित किया था और यह ऑडियो क्लिप उसी कार्यक्रम का है।

बीजेपी अध्यक्ष कथित तौर पर कह रहे हैं कि मुख्य पुजारी कुंडारारु राजीवारु मंदिर के द्वार बंद करने को लेकर दुविधा में थे। उन्हें कोर्ट की अवमानना का डर था लेकिन उनसे (पिल्लई से) बात करने के बाद उन्होंने मंदिर का मुख्य द्वार बंद करने का निर्णय लिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस कथित ऑडियो में वो कह रहे हैं, ‘तांत्रिक समुदाय को बीजेपी और उसके प्रदेश अध्यक्ष पर अधिक भरोसा है। जब महिलाएं मंदिर में प्रवेश करने ही वाली थीं तब उन्होंने मुझे फोन किया। मैंने उनसे बस एक बात कही थी जो संयोग से सच साबित हुई। वो मंदिर का गेट बंद करने को लेकर थोड़े अपसेट थे क्योंकि उन्हें कोर्ट की अवमानना का डर था। उस वक्त जिन चुनिंदा लोगों को उन्होंने फोन किया उनमें मैं भी एक था। अगर कोर्ट की अवमानना का केस हुआ तो सबसे पहले मुझ पर होगा।’

ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद श्रीधरन पिल्लई ने सफाई दी कि एक राजनेता होने के नाते वो सिर्फ राय दे रहे थे। हालांकि ‘सुनहरा मौका’ वाले बयान पर उन्हें कुछ भी कहने से इनकार किया।

सत्ताधारी सीपीएम के राज्य सचिव बी कोडियारी ने केरल बीजेपी अध्यक्ष के इस कथित बयान को काफी गंभीर और उकसावापूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि यह कानून का सीधा-सीधा उल्लंघन है इसलिए उनके (श्रीधरन पिल्लई) खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

Loading...