मुंबई: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के चीफ और सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर मंगलवार को मुंबई में जूता फेंक कर हमला किया गया.

शहर के नागपाड़ा इलाके में एक रैली के दौरान ओवैसी तीन तलाक के विरोध में भाषण दे रहे थे और इसी बीच एक शख्स ने उन पर जूता फेंक दिया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है. लेकिन पुलिस उसकी पहचान छुपा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

न्यूज एजेंसी पीटीआई की जानकारी के मुताबिक ओवैसी ने कहा कि जो लोग ये हरकतें कर रहे हैं, वो नहीं चाहते कि जनता खासतौर पर मुस्लिम समुदाय तीन तलाक के खिलाफ आए बिल का विरोध करें. ओवैसी ने आगे कहा कि ये लोग महात्मा गांधी के हत्या करने वालों की विचारधारा को फॉलो करते हैं, लेकिन इस तरह की घटना उन्हें सच बोलने से रोक नहीं सकती.

ओवैसी ने कहा, ‘‘ये हमारी आवाज को दबा नहीं सकते. आप जब सच्चाई के रास्ते पर चलते हैं तो लोग अपने रास्ते में कांटे बिछाते हैं. यह सब हमें उनके खिलाफ सच बोलने से नहीं रोक सकता है. मुझे जो बोलना था मैंने बोला और कार्यक्रम सफलतापूर्वक हुआ।. मैं यह कहना चाहूंगा कि मैं बिना किसी सुरक्षा के देश में इधर-उधर जाऊंगा. आप जो करना चाहते हैं कर सकते हैं लेकिन मेरी आवाज को दबा नहीं पाएंगे.’’

इस मामले पर एआईएमआईएम विधायक इमतियाज़ जलील ने कहा कि “ओवैसी को जूता नहीं लगा और उन्होंने इस हमले की बिना परवाह किए अपना भाषण पूरा किया. हमें इस तरह की घटनाओं से फर्क नहीं पड़ता. कुछ लोग और पार्टियां चाहती हैं कि हम सच न बोलें लेकिन हम इस तरह की घटनाओं को नजरअंदाज करते हैं.”

Loading...